Press "Enter" to skip to content

झारखंड विकास मोर्चा की बैठक में लोकसभा चुनाव की समीक्षा




लापुंग : झारखंड विकास मोर्चा के बैनर तले लापुंग प्रखंड के

दक्षिणी जोन के सापुकेरा पंचायत में लोकसभा चुनाव के

परिणाम की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक के

दौरान बतौर मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री बंधु तिर्की ने कहा कि

नेपाल में पिछले 12 जून गुरुवार की रात लापुंग से मजदूरी करने गए दो

मजदूरों की निर्माण कार्य के दौरान हुई हादसे में मौत के बाद भी

झारखंड सरकार मजदूरों का शव उनके घर लापुंग के भागलपुर नहीं ला सकी।

उन मृतक मजदूरों को जैसे तैसे नेपाल में ही दफना दिया गया।

इससे बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति और क्या हो सकती है कि मजदूरों को मौत के

बाद अपनी मातृभूमि भी नसीब नहीं हो पाई।

उन्होने कार्यकतार्ओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि लापुंग जैसे

पिछड़े और जनजातीय प्रखण्ड में स्वच्छ भारत मिशन के

तहत शौचालय निर्माण के नाम पर राशि की निकासी कर ली गयी

और शौचालय का निर्माण भी नहीं हुआ।

उन्होंने सवाल उठाया कि दोलैचा पंचायत में सैकड़ो लोग आज भी

शौचालय से वंचित है और इसके बावजूद लापुंग को पूर्ण रूप से

ओडीएफ घोषित कर दिया गया। आखिर लापुंग प्रखंड को नियम कानून को

ताक में रखकर ओडीएफ घोषित कर दिया गया।

सापुकेरा पंचायत में झारखंड विकास मोर्चा के कार्यकतार्ओं की बैठक के

दौरान हुलसूए महुगांवए बोकरन्दाए दानेकेराए मलगो और डाडी़ पंचायतों में

लोकसभा चुनाव के परिणामों की समीक्षा की गई।

झारखंड विकास मोर्चा के प्रखंड अध्यक्ष जयंत बारला ने  समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की 

उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार की

योजनाएं पूरी तरह से विफल है। वहीं सुदामा महली ने कहा कि मनरेगा के

तहत बन रहे कुओं में पानी भी नहीं निकला और पत्थरों से

पाटने का काम शुरू कर दिया गया है। यहाँ सिंचाई कूप दलालों की

भेंट चढ़ रही है मनरेगा कूप और विकास योजनाएँ।

विकास के नाम पर लूट खसोट जारी है।

बैठक को पूर्व मुखिया संतोष तिर्की, पूर्व प्रमुख विश्वनाथ मुंडा,

गांगी उराईन, बोनीफास कोंगाड़ी, पवन ठाकुर, महावीर साहु,

सुरेश साहु, बतिया उराईन, सुखु लोहरा समेत कई लोगों ने संबोधित किया ।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »