fbpx Press "Enter" to skip to content

जापान में हगिबिस से 14 की मौत, 150 घायल, 27 लापता







टोक्योः जापान में शनिवार को बेहद शक्तिशाली तूफान ‘हगिबिस’ की चपेट में आने से कम से कम 14 लोगों की

मौत हो गई जबकि 150 से अधिक अन्य घायल हैं जबकि इस दौरान 27 लोग लापता हैं।

हगिबिस के दौरान काफी तेज रफ्तार से हवाएं चलीं और देश के कई इलाकों में भारी बारिश हुई

जिससे भूस्खलन भी हुआ।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों में रविवार को इसकी पुष्टि की गयी।

रिपोर्टों के मुताबिक तूफान के कारण मरने वालों की संख्या में और वृद्धि होने की आशंका है

क्योंकि कई इलाकों की रिपोर्ट आनी बाकी है।

देश के विभिन्न इलाकों में नदियां उफान पर है और नदियों का पानी रिहायशी इलाकों में घुस चुका है

जबकि बाढ़ और भूस्खलन की चपेट में आने वाले देश के मध्य, पूर्वी और पूर्वोत्तर क्षेत्रों में

बचाव अभियान चल रहा है जो बाढ़ और भूस्खलन की चपेट में थे।

इस हादसे के बाद टोक्यो महानगर और आस-पास के इलाकों के 250000 निवासियों को

रविवार की सुबह तक बिना बिजली के रहे।

इनमें से चिबा प्रांत के 109100 परिवार भी शामिल हैं जिन्हें बगैर बिजली के अंधेरे में रहना पड़ रहा है।

चिबा प्रांत में सितंबर में ‘फक्साई’ तूफान के कहर का सामना करना पड़ा था।

जापान के हगिबिस से बिजली लाइन क्षतिग्रस्त

टोक्यो इलेक्ट्रिक पावर कंपनी ने कहा कि तूफान के साथ चली तेज आंधी की चपेट में आकर कई स्थानों पर

बिजली की लाइनें क्षतिग्रस्त हो सकती हैं और पेड़ और साइनबोर्ड बिजली की लटकती हुई केबलों के

संपर्क में आ सकते हैं।

कंपनी ने लोगों से अपील की कि वे ऐसे केबलों के पास न जाएं या न छुएं

क्योंकि वे करंट से प्रभावित हो सकते हैं।

टोक्यो के हानेडा हवाई अड्डे और शिंकानसेन बुलेट ट्रेन की सभी सेवाओं को रविवार को बहाल कर दिया गया।

शनिवार को तूफान के कारण अधिकांश उड़ान सेवाओं और ट्रेन सेवाओं को स्थगित कर दिया गया था।

हालांकि हानेडा हवाई अड्डे से होकर रविवार को आने और जाने वाली अधिकांश कई उड़ानें

पहले ही रद्द कर दी गई हैं, जबकि टोक्यो के सबवे के संचालन को सुबह में सुरक्षा कारणों से स्थगित रखा गया था।

जापान के मुख्य द्वीप होंशू में 60 लाख से अधिक लोगों को घर खाली करने की सलाह दी गई है।

रविवार की सुबह अधिकारियों ने टोक्यो और मध्य एवं पूर्वी के अधिकांश इलाकों से अपने मशविरे को

वापस ले लिया था।

जापान की मौसम विज्ञान एजेंसी ने इससे पहले टोक्यो और गुम्मा, सीतामा, कानागावा, यमनशी, नागानो,

शिजओका, निगाता और फुकुशिमा प्रान्तों में सबसे अधिक भारी बारिश की आपातकालीन चेतावनी जारी की थी।

रविवार की सुबह तक, ऐसी सभी चेतावनी को हटा दिया गया है।

टोक्यो महानगरीय क्षेत्र और पूर्वोत्तर जापान के हिस्से से गुजरने के बाद, तुफान अब प्रशांत तट से

दूर है और जापानी द्वीपसमूह से दूर जा रही है।

रविवार दोपहर को यह इसके चक्रवात के कमजोर पड़ने की संभावना है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.