यौन शोषण के आरोपी नौकरशाह की बर्खास्तगी का फैसला

पहले भी लग चुके हैं कई किस्म के आरोप

0 111

टोक्यो : जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कईं महिला पत्रकारों के यौन शोषण के आरोपी वित्त मंत्रालय में तैनात एक शीर्ष नौकरशाह को बर्खास्त करने का फैसला किया है।

दैनिक समाचार पत्र सांकेई ने आज यह जानकारी दी।

प्रमुख साप्ताहिक पत्रिका शिंजो ने गुरुवार को अपने अंक में  एक रिपोर्ट में कहा था

कि वित्त मंत्रालय में तैनात उप प्रशासनिक अधिकारी जुनीची फुकुदा एक महिला

पत्रकार के साथ एक बार में गये और वहां उस महिला से कहा”मैं आपके गले लगाना

और चूमना चाहता हूं।”

यौन शोषण के अलावा भी हैं कई आरोप

इस अधिकारी पर पहले भी कईं महिलाओं ने आरोप लगाए है और यह मसला प्रधानमंत्री

आबे तथा वित्त मंत्री तारो असों के लिए नया सिरदर्द बन सकता हैं क्योंंकि इन दोनों

पर हाल ही भाई भतीजावाद और अपने मित्रों को फायदा पहुंचाने के आरोप लगे हैं।

इस बीच आज सुबह कार्यालय पहुंचने पर फुकुदा ने बताया  कि वह आज दिन में एक बयान जारी करेगा और इस मामले में थोड़ा सब्र करने की जरूरत है।

पत्रकारों की ओर से इस्तीफे से जुडे सवाल पर फुकुदा ने कहा कि अभी इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं है ।

पत्रिका ने इन महिला पत्रकारों के नामों को सार्वजनिक नहीं किया है।

वैश्विक स्तर पर चलाए जा रहे “मी टू” अभियान के बाद अनेक महिलाओं ने कार्यस्थल और अन्य स्थानों पर हुए यौन शोषण की शिकायतें दर्ज कराई हैं।

इसके बाद दर्जनों अधिकारियों को या तो नौकरी से निकाल दिया गया अथवा उन्होंने  इस्तीफा दे दिया है।

कईं मामलों में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

वित्त मंत्री ने संसदीय पैनल को इस मसले पर जानकारी दी कि फुकुदा ने उनसे

मिलकर अपना पक्ष रखा हैं।

हाल के दिनों में जापान में चल रही नैतिक सफाई अभियान को इस किस्म के

फैसलों से बल मिलने वाला है।

समझा जाता है कि इस किस्म की यौन उत्पीड़न की शिकार महिलाएं पहले

लोक लाज की वजह से अपनी बात नहीं रख पाती थी।

अब बदले परिवेश में ऐसी महिलाएं खुलकर अपनी आपबीती सुना रही हैं,

जिससे कई ऐसे चेहरे भी सामने आ रहे हैं जो यहां की राजनीति में उथल पुथल ला सकते हैं।

Please follow and like us:

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.