fbpx Press "Enter" to skip to content

आईटीबीपी के शिविर पर गोलीबारी से छह जवानों की मौत







नारायणपुरः आईटीबीपी के शिविर में आज सुबह अचानक हुयी गोलीबारी की घटना

में छह जवानों की मौत हो गयी। इस गोलीबार मे दो अन्य जवान गंभीर रुप से घायल

हो गए। घायलों को नजदीक के अस्पताल में ले जाया गया है।

बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक पी सुन्दरराज ने बताया कि सुबह किसी बात को

लेकर एक जवान द्वारा अचानक गोलीबारी कर दी गयी, जिससे छह जवानों की मौत

हो गयी और दो अन्य जवान गंभीर रुप से घायल हो गए। घायल जवान को नजदीक

के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां से उन्हे रायपुर ले जाने की तैयारी की जा

रही है। इस घटनाक्रम में गोली चलाने वाले जवान की भी मौत हुयी है।

पुलिस की प्रारंभिक जांच में आपसी विवाद के चलते इस घटनाक्रम को अंजाम दिया

गया है।

आईटीबीपी जवानों की गोलीबारी की जांच के दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नारायणपुर जिले में भारत तिब्बत सीमा

पुलिस (आईटीबीपी)के कैम्प में जवानों के बीच गोलीबारी में छह जवानों की मौत

की घटना को बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए इसकी जांच के निर्देश दिए है।

श्री बघेल ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस प्रकार की घटना कैसे हुई

इसकी जांच की जानी चाहिए और यह भी पता लगाया जाना चाहिए कि गोली चलाने

वाले जवान ने छुट्टी का आवेदन दिया या पारिवारिक कारणों से तनाव में था या फिर

कोई अन्य कारण था।

उन्होने कहा कि इस तरह की घटना की केन्द्रीय या फिर राज्य पुलिस बल के नक्सल

क्षेत्रों में स्थिति कैम्पों में पुनरावृत्ति नही हो इसके लिए कदम उठाने के निर्देश दे

दिए है। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि बस्तर के पुलिस महानिरीक्षक सहित

पुलिस अधीक्षक को भी मौके पर पहुंचने के निर्देश दे दिए गए है।

घायल जवानों को उपचार के लिए लाने के लिए हेलीकाप्टर भी भेजा गया है।

प्रारंभिक सूचनाओं में पांच जवानों की मौके पर तथा एक की उपचार के दौरान मौत

हो गई जबकि दो जवान घायल हुए है। मृतकों में गोली चलाने वाला जवान भी शामिल

है जिसने स्वयं को भी बाद में गोली मार ली।

राज्य मुख्यालय पर मिली खबरों के मुताबिक नारायणपुर जिले के कड़ेनार

आईटीबीपी कैम्प में एक जवान में अपने साथी जवानों पर फायरिंग कर दी

जिसमें पांच जवानों की मौत हो गई और दो जवान घायल हो गए।

बाद में उसने भी गोली मार ली। पुलिस महानिदेशक डी.एम.अवस्थी स्वयं पूरे

घटनाक्रम पर निगरानी रखे हुए है। उन्होने आईटीबीपी एवं अन्य केन्द्रीय बलों के

आला अफसरों से भी चर्चा की है।उन्होने घायल जवानो को उपचार के लिए तुरंत

राजधानी लाने के भी निर्देश दिए है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply