fbpx Press "Enter" to skip to content

छोटू यादव की गिरफ्तारी के बाद क्या नवगछिया में अमन-चैन रहेगा या नहीं? बड़ा सवाल




भागलपुर : इनामी अपराधी छोटू यादव की गिरफ्तारी से नवगछिया पुलिस जिले में

अपराध का ग्राफ कम होगा। सवाल यह भी है क्या छोटू यादव की गिरफ्तारी के बाद

नवगछिया में अमन चैन कायम रहेगा या नहीं यह तो आने वाला समय बताएगा लेकिन

कहीं ना कहीं एसटीएफ की टीम ने छोटू यादव की गिरफ्तारी के बाद नवगछिया की आम

जनता को राहत की सांस लेने का मौका तो दिया है नहीं तो छोटू यादव सुपारी लेकर किसी

भी की हत्या करने के लिए सक्षम था हर बड़ी हत्या में छोटू यादव और उसके गैंग के लोग

शामिल रहते थे। बाहुबली विनोद यादव, जिप सदस्य के भाई की हत्या समेत अन्य कई

केसों में छोटू शामिल रहा है। लेकिन एसटीएफ द्वारा उसकी गिरफ्तारी के बाद इलाके में

अमन-चैन कायम होगा। बिहार पुलिस चला रही कुख्यात अपराधियों के खिलाफ मुहिम

यह अपने आप में एसटीएफ टीम की बड़ी सफलता है। इस बात से इंकार नहीं किया जा

सकता है कहीं ना कहीं बिहार में फरार और कुख्यात अपराधी को एसटीएफ की टीम पकड़

कर सलाखों के पीछे भेज रही है भागलपुर जिले के भी कई कुख्यात अपराधी जो फरार चल

रहे हैं। उसे भी एसटीएफ की टीम ने पकड़ने का जिम्मा लिया हुआ है। आने वाले समय में

एसटीएफ टीम की भूमिका और ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाएगी। इन दिनों बिहार में

एसटीएफ टीम कई जिलों में फरार अपराधियों को पकड़ने के लिए कैंप कर रही है। लेकिन

नवगछिया पुलिस जिला में एक डीएसपी काफी सुर्खियों में है आखिर वह डीएसपी क्यों

सुर्खियों में है पुलिस मुख्यालय इस बिंदु पर कितना ध्यान देता है यह तो आने वाला समय

बताएगा। नवगछिया में बढ़ती आपराधिक घटनाओं से पुलिस पर सवाल उठने लाजमी है।

छोटू यादव की केस रिकॉर्ड

विनोद यादव की हत्या 20 अगस्त 2016 को अपराधियों में गोली मारकर कर दी थी। इस

मामले में पुरुषोत्तम यादव उर्फ छोटू की महत्वपूर्ण भूमिका थी नवगछिया में अपराध

बढ़ने का मूल कारण यह भी है कि नवगछिया पुलिस जिला से पूर्णिया और मधेपुरा की

सीमा पोस्ट पर पुलिस की निगरानी कम है जिसके कारण से फरार अपराधी वहां अपराध

करके आसानी से भागने में सफल रहते हैं। नवगछिया में यदि पुलिस मुख्यालय को वहां

अपराध कम हो तो ऐसे अपराधियों पर विशेष ध्यान देना होगा जैसे की संपत्ति को लेकर

विवाद है, जमीनी विवाद है आपसी विवाद है। पारिवारिक विवाद है, यदि विवाद में कहीं ना

कहीं हत्या की राजनीतिक है, तो पुलिस को ऐसे अहम बिंदु पर विशेष नजर रखनी होगी

और हत्या किन कारणों से हो रही है। इस पर विशेष ध्यान देना होगा नहीं तो आने वाले

दिनों में एक छोटू यादव नहीं कई छोटू यादव नवगछिया में नए नाम के साथ अपराध की

दुनिया में सुर्खियों मैं बने रहेंगे ऐसे में पुलिस मुख्यालय को नवगछिया में होने वाली

पुलिस इंस्पेक्टर और थानेदार और डीएसपी से लेकर एसपी तक की पोस्टिंग पर भी ध्यान

देना होगा नहीं तो जो नवगछिया पुलिस जिला में पुरानी स्थिति रही है। कई वर्ष पूर्व

आईजी दरभंगा नवगछिया पुलिस जिला के एसपी हुआ करते थे और अजिताभ कुमार ने

अपराधियों के खिलाफ एक बड़ी मुहिम शुरू की थी इसमें उनको सफलता भी प्राप्त हुई थी।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from विवादMore posts in विवाद »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: