fbpx Press "Enter" to skip to content

खतरनाक स्थिति की ओर बढ़ता इराक, अब तक तीन सौ मारे गये




बगदादः खतरनाक स्थिति की तरफ इराक फिर से बढ़ता हुआ नजर आने लगा है।

वहां की हिंसक घटनाओं में बढ़ोत्तरी अब एक वैश्विक चिंता का विषय बन चुका है।

इराक में अक्टूबर से जारी सरकार विरोधी प्रदर्शन में अब तक 319 लोगों की मौत हुई है।

इराक मीडिया ने इसकी सूचना दी।

इराकी न्यूज एजेंसी के अनुसार इराक में सुरक्षा बल और प्रदर्शनकारियों को मिलाकर हाल में मरने वालों का आंकड़ा 319 है।

विश्वसनीय सूत्र के मुताबिक मानव अधिकार के उच्चायोग ने पुष्टि की है कि मरने वालों में 13 सुरक्षाकर्मी थे।

इतने सारे पुलिस वालों के मारे जाने की वजह से स्थिति को खतरनाक माना जाने लगा है।

सूत्रों ने कहा कि इस प्रदर्शन में सुरक्षाकर्मी और प्रदर्शनकारी सहित 15000 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

गौरतलब है कि इराक में अक्टूबर से सरकार को बर्खास्त करने, भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने, आर्थिक सुधार करने तथा रोजगार के अवसर पैदा करने जैसी कई मांगों को लेकर प्रदर्शनकारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

हिंसा को देखते हुए इराकी सरकार ने बगदाद सहित अन्य शहरों में कर्फ्यू लगा दिया था तथा इंटनेट सेवा को भी ठप कर दिया था।

खतरनाक स्थिति इसलिए क्योंकि आतंकवादी भी सक्रिय

इराक में सरकार विरोधी प्रदर्शनों में आतंकवादी समूहों के सक्रिय होने की वजह से भी इसे अब गंभीरता से लिया जा रहा है।

बीच के दौर में सेना के लगातार अभियानों की वजह से आईएस आतंकवादियों की गतिविधियों में काफी कमी आयी थी।

सेना ने दूर दराज के इलाकों तक में हमला कर आतंकवादी शिविरों को ध्वस्त कर दिया था।

इस बीच सरकार विरोधी आंदोलन प्रारंभ होने की वजह से सेना का अभियान भी ठप सा पड़ गया है।

अब आतंकवादी भी इस मौके का फायदा उठा रहे हैं।

देश के विभिन्न इलाकों में चल रहे सरकार विरोधी आंदोलनों में वह भी खुलकर सामने आने लगे हैं।

कई स्थानों पर सड़क अवरोध में उन्हें अपने संगठन के झंडे के साथ देखा गया है।

इससे लोगों का दिमाग इस पूरे आंदोलन के प्रति भी सतर्क हुआ है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: