Press "Enter" to skip to content

ईरान ने अपने मिसाइल कार्यक्रम पर बात-चीत से किया इंकार







वाशिंगटनः ईरान ने अपने मिसाइल कार्यक्रम पर बातचीत शुरू करने की किसी भी संभावना से इनकार कर दिया है।

संयुक्त राष्ट्र में ईरानी मिशन ने मंगलवार को एक वक्तव्य जारी कर यह बात कही।

वक्तव्य के मुताबिक उन सभी अटकलों को सिरे से खारिज करता है जिसके मुताबिक यदि भविष्य में

अमेरिका खाड़ी क्षेत्र के देशों को मिसाइल और अन्य हथियार बेचना बंद कर देता है

तो ईरान अपने मिसाइल कार्यक्रमों पर बातचीत शुरू कर सकता है।

वक्तव्य में कहा गया, ‘‘ ईरान की मिसाइलों और उसके मिसाइल कार्यक्रम पर किसी भी देश के साथ किसी भी परिस्थिति में कोई बातचीत नहीं होगी।

’’ उल्लेखनीय है कि ओमान की खाड़ी में गत माह होरमुज जलडमरूमध्य के नजदीक दो तेल टैंकरों अल्टेयर और कोकुका करेजियस में विस्फोट की घटना

और ईरान द्वारा अमेरिका के खुफिया ड्रोन विमान को मार गिराने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है।

गत सप्ताह ईरान ने अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते के तहत यूरेनियम संवर्द्धन की तय सीमा को पार कर लिया है।

3.67 प्रतिशत की तय सीमा को पार कर अपना यूरेनियम संवर्द्धन 4.5 प्रतिशत तक कर लिया है।

अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) ने इसकी पुष्टि भी की है।

ईरान ने अपने मिसाइल कार्यक्रम को सुरक्षात्मक बताया है

ईरान का कहना है कि एक तरफ तो अमेरिका अपने युद्ध का कारोबार जारी रखते हुए

खाड़ी क्षेत्र के देशों को भरपू तरीके से हथियार बेच रहा है।

दूसरी तरफ वह अपनी सुरक्षा प्रणाली मजबूत करने से रोक रहा है।

यह दोतरफा बात नहीं चल सकती।

सुरक्षा के लिहाज से अपनी रक्षा प्रणाली को मजबूत करने का फैसला किया है।

इसलिए अब अमेरिका को अपने हथियार बेचने का कारोबार भी रोकना होगा।

तभी ईरान भी अपने फैसले पर पुनर्विचार कर सकता है।

वरना खाड़ी क्षेत्र में लगातार हथियार बेचने वाले  इस किस्म की नसीहत नहीं दे सकते।



Spread the love
  • 8
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
    8
    Shares

Be First to Comment

Leave a Reply

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com