fbpx Press "Enter" to skip to content

आईपीएस एसएमएच मिर्जा को 30 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत

प्रतिनिधि

कोलकाताः आईपीएस एसएमएच मिर्जा को बैंकशाल की विशेष सीबीआई कोर्ट ने 30 अक्टूबर तक के लिए

न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उन्हें गत 26 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था।

उस दिन उन्हें कोर्ट में पेश किया गया था जहां से न्यायालय ने उन्हें 30 सितंबर तक के लिए सीबीआई रिमांड पर

भेजा गया था। उसके बाद उन्हें 30 सितंबर को एक बार फिर कोर्ट में पेश किया गया था जहां से 14 अक्टूबर तक के लिए

उनकी रिमांड को बढ़ा दिया गया था। अब उन्हें 30 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में रखा जाएगा।

आईपीएस मिर्जा पर एक फर्जी कंपनी के अवैध कारोबार को फैलाने में मदद करने के नाम पर घूस लेने का आरोप है।

आपको बता दें कि आईपीएस मिर्जा पर भी नारद स्टिंग ऑपरेशन किया गया था। जिसमें वे कथित तौर घूस लेते

नजर आए थे। सूत्रों के अनुसार सीबीआई की टीम उनके आमने-सामने बैठाकर कुछ और नेताओं से पूछताछ कर

सकती है। इसमें मुकुल रॉय के अलावा इकबाल अहमद भी शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि नारद न्यूज़ पोर्टल के

सीईओ मैथ्यू सैमुअल ने वर्ष 2014 में नारद स्टिंग ऑपरेशन किया था।

वह एक फर्जी कंपनी के फर्जी निदेशक बनकर तृणमूल कांग्रेस के 11 नेताओं मंत्रियों से मिले थे और अपनी

कंपनी के अवैध कारोबार को फैलाने में मदद करने के नाम पर 5-5 लाख रुपये घूस लेकर स्टिंग ऑपरेशन किया था।

इसमें सत्तारूढ़ पार्टी के कई बड़े नेता मंत्री फंसे हुए हैं।

भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के वर्तमान सदस्य और तब के ममता बनर्जी के सबसे करीबी

सहयोगी मुकुल रॉय भी उनमें से एक है।

सैमुअल ने मुकुल को भी घूस देनी चाही थी लेकिन रॉय ने नहीं लिया था और रुपये लेकर बर्दवान के तत्कालीन

एसपी एसएमएच मिर्जा को देने को कहा था।

आईपीएस मिर्जा एक स्टिंग ऑपरेशन में पैसा लेते देखे गये हैं

मैथ्यू तब मिर्जा के पास जा पहुंचे थे और पांच लाख रुपये देते हुए उनका स्टिंग ऑपरेशन किया था।

उस वीडियो में सत्तारूढ़ पार्टी के शीर्ष नेता तक अपनी पहुंच होने का दावा करते सुने जा सकते हैं।

26 सितंबर को सीबीआई ने गिरफ्तार किया तो पूछताछ में उन्होंने यह भी दावा किया है कि

कोलकाता के एल्गिन रोड में स्थित मुकुल रॉय के घर जाकर सारे रुपये मुकुल को सौंप दिया था।

हालांकि रॉय ने लगातार इस बात से इनकार किया है और दावा किया है कि उन्होंने स्टिंग ऑपरेशन के

दौरान लिया गया रुपया कभी किसी से नहीं लिया है और ना ही किसी ने उन्हें रुपए लेते हुए देखा है।

हालांकि मिर्जा के दावे के मुताबिक सीबीआई मुकुल के घर जाकर रुपये के लेनदेन की घटना का

पुनर्निर्माण कर वीडियो रिकॉर्ड कर चुकी है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from घोटालाMore posts in घोटाला »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat