fbpx Press "Enter" to skip to content

मास्क और सैनेटाइजर की कीमत बढ़ाकर लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश

नयी दिल्लीः मास्क और सैनेटाइजर की अधिक कीमत लेने वालों के खिलाफ

कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश उच्चतम न्यायालय ने दिया है।

उच्चतम न्यायालय ने कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ के संक्रमण से बचने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले

मास्क एवं सैनेटाइजर की कीमत बढ़ाकर लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का शुक्रवार को निर्देश दिया।

न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की खंडपीठ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हुई सुनवाई के दौरान निर्देश दिया कि

मास्क एवं हैंड सैनेटाइजर की कीमतों को लेकर सरकार की ओर से जारी

अधिसूचना का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाये।

खंडपीठ ने केंद्र सरकार को इन चीजों की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए प्रचार-प्रसार करने का भी निर्देश दिया।

न्यायालय ने कहा, ‘‘सरकार मास्क, सैनेटाइजर की अधिकतम कीमत तय करने वाली अपनी अधिसूचना का प्रचार-प्रसार करे, साथ ही इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे।’’

इस बीच सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने न्यायालय को बताया कि मास्क और सैनेटाइजर को अधिक कीमत पर बेच रहे लोगों की शिकायत के लिए हेल्पलाइन नंबर उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

जस्टिस फॉर राइट्स फाउंडेशन की याचिका पर गत बुधवार को न्यायालय ने केंद्र से जवाब तलब किया था।

फाउंडेशन की ओर से याचिका दायर करने वालों में अधिवक्ता सत्यम सिंह राजपूत, अधिवक्ता अमित शर्मा एवं दिल्ली विश्वविद्यालय का एक विधि छात्र प्रतीक शर्मा शामिल हैं।

मास्क और सैनेटाइजर की कालाबाजारी पर याचिका

दरअसल याचिकाकर्ता ने मास्क, हैंड सैनेटाइजर और पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) जैसी

आवश्यक मेडिकल वस्तुओं की कथित कालाबाज़ारी के मामले में न्यायालय से तत्काल हस्तक्षेप की मांग की है।

याचिका में आवश्यक चिकित्सा वस्तुओं के उचित और न्यायसंगत वितरण को सुनिश्चित करने के लिए उचित दिशा-निर्देश जारी किये जाने की मांग की गयी है।

पूरे देश से लगातार इस बात की शिकायत आ रही है कि मौके का फायदा उठाते हुए

कुछ व्यापारियों ने मनमाने दाम पर इनकी बिक्री प्रारंभ कर दी है।

दरअसल अचानक मांग बढ़ने की वजह से भी इनकी अधिक खपत होने लगी है।

दूसरी तरफ इनकी सप्लाई चेन अभी उतनी मजबूत और तेज नहीं है।

बाजार में मास्क और सैनेटाइजर की कमी होने की वजह से ही मनमाने दाम पर इन्हें बेचा जा रहा है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!