fbpx Press "Enter" to skip to content

भारतीय नौसेना का सबसे बड़ा रक्षा अभ्यास 12 जनवरी से

विशाखापट्टनम : भारतीय नौसेना के तटीय रक्षा कार्यक्रम का दो दिवसीय रक्षा अभ्यास

12 व 13 जनवरी, 2021 को आयोजित किए जाएंगे। इसके पूर्व पहला अभ्यास का

उदघाटन वर्ष 2019 में किया गया था। इसका संचालन 7516 कि. मी. समुद्र तट और

भारत के अनन्य आर्थिक क्षेत्र के साथ किया जाएगा और इसमें मत्स्य पालन और तटीय

समुदायों सहित सभी 13 तटीय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को शामिल किया जाएगा।

इस अभ्यास का भारतीय नौसेना द्वारा समन्वित किया जा रहा है।मुंबई के 26/11 के

आतंकवादी हमले के बाद सम्पूर्ण तटीय सुरक्षा व्यवस्था को पुनर्गठित किया गया था,

जिसे समुद्री मार्ग से शुरू किया गया था। प्रयोग का आकार और संकल्पनात्मक विस्तार

भौगोलिक विस्तार, इसमें शामिल भागीदारों की संख्या, भाग लेने वाली इकाइयों की

संख्या और उद्देश्यों के संदर्भ में अभूतपूर्व है।यह अभ्यास प्रमुख थिएटर स्तर के व्यायाम

ट्रोपेक्स [रंगमंच-स्तरीय तैयारी परिचालन अभ्यास) की ओर एक बड़ा निर्माण है, जो

भारतीय नौसेना प्रत्येक दो वर्ष में संचालित करती है।समुद्री सतर्कता और ट्रापेक्स सहित

समुद्री सुरक्षा चुनौतियों के सभी दायरे में शामिल होंगे, जिसमें शांति से संघर्ष की ओर

संक्रमण शामिल है।भारतीय नौसेना, तटरक्षक बल, सीमा शुल्क, सीमा शुल्क तथा अन्य

समुद्री एजेंसियों की परिसंपत्तियों की निगरानी में सहयोग देगा, जिसके आचरण में रक्षा,

गृह कार्य, नौवहन, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, मात्स्यिकी, मात्स्यिकी आदि मंत्रालय

सहायता कर रहे हैं।

भारतीय नौसेना के इस अभ्यास का रणनीतिक महत्व है

चीन के साथ जारी सीमा विवाद के बीच ही भारत समुद्री स्तर पर भी खुद को पहले के

मुकाबले अधिक मजबूत करने की तैयारियों में जुटा हुआ है। बांग्लादेश के रास्ते उत्तर

पूर्वी राज्यों के लिए जल पथ परिवहन चालू करने के बाद इसकी अधिक आवश्यकता

महसूस की गयी है। पूर्वी सीमा पर भी इसी वजह से भारतीय नौसेना गश्ती के लिए अपने

स्तर से बेहतर इंतजाम कर रही है। इसके लिए भारत ने आधुनिक उपकरण और समुद्र में

बेहतर तरीके से गश्ती करने के लिए ड्रोन और नावों की खेप भी बढ़ाने का एलान पहले ही

कर दिया है। 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: