fbpx Press "Enter" to skip to content

भारतीय फुटबाल कप्तान सुनील छेत्री ने बड़ी फुटबाल लीग की बात कही

नयी दिल्लीः भारतीय फुटबाल कप्तान सुनील छेत्री ने एशियाई फुटबॉल

परिसंघ (एएफसी) के भारतीय फुटबाल को आगे ले जाने के लिये तैयार किये

गये रोडमैप का स्वागत करते हुये बुधवार को यहां कहा कि देश में एक ही

बड़ी फुटबाल लीग होनी चाहिये। एएफसी ने हाल में कुआलालम्पुर में

अपनी बैठक में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) को 2019-2020 सत्र

से भारत की शीर्ष फुटबॉल लीग बनाने का प्रस्ताव दिया था।

इस बैठक में आईएसएल, आई- लीग, अखिल भारतीय फुटबॉल

महासंघ (एआईएफएफ) और आईएमजी- रिलायंस के प्रतिनिधि

शामिल हुए थे।

एएफसी की कार्यकारी समिति ने भारतीय फुटबॉल के लिए बनाये गए रोडमैप

को अपनी मंजूरी दे दी है। छेत्री ने यहां हर्बालाइफ न्यूट्रिशन के फिट फैमिलीज फेस्ट के तीसरे संस्करण की घोषणा के मौके पर संवाददाताओं से कहा,‘‘

एएफसी का रोडमैप भारतीय फुटबाल के लिये एक अच्छी पहल है और मैं

इस बात से पूरी तरह सहमत हूं कि देश में एक ही बड़ी फुटबाल लीग होनी

चाहिये।’’

भारतीय फुटबाल कप्तान ने कहा,‘‘ इस रोडमैप में एक नहीं कई बिंदु शामिल

हैं और इसके साथ कई अंशधारक जुड़े हैं। इस रोडमैप में एफसी,

एआईएफएफ, आईएसएल और आईलीग की मिली जुली भूमिका है।

इस रोडमैप को लेकर एआईएफएफ की कार्यकारी समिति जो भी फैसला

लेगी उसका सभी को पालन करना होगा।’’ एएफसी की कार्यकारी समिति

इस रोडमैप को अपनी मंजूरी दे चुकी है जबकि इसे एआईएफएफ की

कार्यकारी समिति में पेश किया जाना है। एएफसी ने अपने रोडमैप में भारतीय

फुटबाल को आगे ले जाने की दिशा में कदम उठाया है और एएफसी का

कहना है कि हर किसी को मिलकर काम करना होगा और भारतीय

क्लब फुटबॉल के विकास के लिए सही फैसले लेने होंगे।

भारतीय फुटबाल कप्तान ने एएफसी का समर्थन किया

रोडमैप के अनुसार भारत में फुटबॉल के विकास में एएफसी हर कदम पर

शामिल रहेगा और उसका लक्ष्य एक लीग रहेगा। एएफसी ने एआईएफएफ

को सूचित किया है कि शीर्ष लीग के लिए 10-12 टीमें काफी नहीं हैं

और यह लीग इससे बड़ी होनी चाहिए। छेत्री भी एएफसी के इस रोडमैप

से सहमत नजर आ रहे हैं। छेत्री ने कहा,‘‘ जितनी बड़ी लीग होगी उतना

ही भारतीय फुटबाल को फायदा होगा और यह खिलाड़ियों के लिये भी

अच्छा होगा। रोडमैप अभी एक प्रक्रिया में है और उम्मीद करते हैं कि इसके

अच्छे परिणाम सामने आएंगे।’’

भारत के हाल में बंगलादेश के साथ विश्वकप क्वालिफायर्स में 1-1 का ड्रॉ

खेले जाने के बारे में पूछने पर छेत्री ने कहा,‘‘ इस बात में कोई शर्म नहीं है

कि हम बंगलादेश के खिलाफ काफी खराब खेले। इससे पहले एशियाई

चैंपियन कतर के खिलाफ हमने गोल रहित ड्रॉ खेलकर शानदार प्रदर्शन

किया था लेकिन बंगलादेश के खिलाफ हमने ढेरों मौके बनाये।

मैंने खुद चार मौके गंवाये वरना हम यह मैच आसानी से जीत सकते थे।’’

क्रिस्टियानो रोनाल्डो और लियोनल मैसी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों से

तुलना के बारे में पूछने पर छेत्री ने कहा,‘‘ जब कोई ऐसे तुलना करता है तो

पहले मैं खूब हंसता हूं लेकिन फिर अच्छा भी लगता है। मैं भाग्यशाली हूं

कि देश के लिये 100 से ज्यादा मैच खेल चुका हूं। मैं हर मैच में सर्वश्रेष्ठ

देने की कोशिश करता हूं। मैं कब तक खेलूंगा यह बताना मुश्किल है

लेकिन जब तक फिट हूं खेलता रहूंगा।’’

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by