fbpx Press "Enter" to skip to content

सीमा के शहर जैसलमेर में रखे जाएंगे ईरान से लाये गये भारतीय

जैसलमेरः सीमा के शहर जैसलमेर में ही ईरान से विशेष वायुयान से लाये गये 44

भारतीय नागरिकों को लाया जा रहा है। जिला कलक्टर नमित मेहता ने आज बताया कि

सभी भारतीयों की स्क्रीनिंग और अन्य टेस्ट किये गये इसके तहत किसी में भी वायरस

का संक्रमण नहीं पाया गया है, लेकिन ऐहतियात के तौर पर सामान्य चिकित्सकीय

प्रक्रिया के तहत कुछ दिन तक इन्हें सैन्य क्षेत्र में स्थित आईसोलेशन एवं वेलनेस सेंटर में

रखा जाएगा। पूरी जांच के बाद उन्हें अपने घरों के लिए रवाना कर दिया जाएगा। उन्होंने

बताया कि जिला प्रशासन इस बारे में लगातार सैन्याधिकारियों के सम्पर्क में है और सभी

प्रकार का वांछित सहयोग किया जा रहा है। श्री मेहता ने कहा कि यह आइसोलेशन कम

वेलनेस सेंटर शहर से दूर सैन्य क्षेत्र में स्थापित है जहाँ सामान्य प्रक्रिया के तहत इन

भारतीय नागरिकों को मात्र एहतियात के तौर पर रखा जाएगा, लिहाजा किसी को भी

घबराने की जरूरत नहीं है। यह कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए अपनायी जाने

वाली एक सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया का हिस्सा है।

सीमा के शहर वाघा को बंद किया गया

देश में कोरोना वायरस का असर अंतर्राष्ट्रीय वाघा सीमा पर भी पड़ने लगा है। इस घातक

वायरस के मद्देनजर शुक्रवार शाम साढ़े पांच बजे से भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाले

रेल और सड़क दोनों मार्ग को बंद कर दिया जाएगा। वाघा सीमा पर सरकारी अधिकारी ने

बताया कि आज सुबह पाकिस्तान से कुछ यात्री वाघा सीमा के रास्ते आए हैं लेकिन शाम

साढ़े पांच बजे से रेल तथा सड़क मार्गों को 15 अप्रैल तक बंद कर दिया जाएगा जिसके

चलते पाकिस्तान से यात्रियों के साथ-साथ पाकिस्तान से आने वाले समान के ट्रकों पर भी

प्रतिबंध रहेगा। पाकिस्तान के गुरूद्वारा श्री करतारपुर साहिब जाने के लिए बनाया गया

गलियारा हालांकि अभी तक यथावत चलता रहेगा। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के

पंजाब फ्रंटियर के महानिरीक्षक आर. एस. कटारिया ने बताया कि वाघा सीमा को बंद

करने संबंघी बीएसएफ के पास अभी तक कोई अधिकृत सूचना नहीं मिली है। उन्होंने

बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर केवल पंजाब के चिकित्सा विभाग ने करतारपुर कोरिडोर को

बंद करने का सुझाव दिया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by