Press "Enter" to skip to content

भारत नेपाल सीमा पर आवाजाही पर पूरी तरह रोक लगी

हरलाखीः भारत नेपाल सीमा पर भी आवागमन पर अब पूरी तरह रोक लगी हुई है।

कोरोना महामारी को लेकर पूरे देश तबाह है। चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है। इसी को

लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीते मंगलवार को लॉकडाउन को लेकर बड़ा

फैसला की है। 15 मई तक संपूर्ण बंद का घोषणा के साथ ही पहले दिन ही बुधवार को

पुलिस प्रशासन एक्शन मुड़ में आया गया है। बुधवार को उमगांव, हरलाखी, हरिणे,

पिपरौन, बौरहर, झिटकी, गंगौर, हिसार, बिशौल सहित अन्य जगहों के बाजार बंद रहा।

इस दौरान आवश्यक सामग्री के दुकान ही खुला रहा। पुलिस भी गस्ती करते रहे। जिस

कारण बाजार बंद से वीरान था। इसी बीच बॉर्डर पर मौजूद एसएसबी ने भी बॉर्डर पर

सख्ती बढ़ा दी है। नेपाली सेना ने भी ड्यूटी कड़ी कर दी है। दोनों देशों के जवानों ने बुधवार

को दोनों देशों के नागरिकों के लिए भारत नेपाल सीमा पर आवाजाही पूर्णतया बंद कर

दिया है। जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है। बॉर्डर पर दोनों देश की नागरिक की भीड़

लग गई। लेकिन नेपाली सेना एक भी व्यक्ति को नेपाल सीमा में प्रवेश नही करने दिया।

जबकि नेपाल सीमा में फंसे कुछ भारतीय को चेतावनी देकर आने दी। जिस कारण बॉर्डर

पर भारतीय सीमा में आये नेपाली नागरिक को आक्रोश भी देखने को मिला।

भारत नेपाल सीमा पर पहले पैदल आने जाने की छूट थी

उनलोगों का कहना था कि रोक दोनों देशों के लोगों के लिए होना चाहिए था। गौरतलब हो

कि कोरोना महामारी को लेकर पिछले एक सालों से अधिक समय से बॉर्डर सील ही है।

बीते दो-तीन महीने से थोड़ी बहुत ढिलाई दी गई थी। दोनों देशों के लोगों को पैदल आने

जाने दिया जाता था। अचानक बंद से कई लोगों मुसीबत में दिख रहे थे। बिहार में 15 मई

तक संपूर्ण लॉकडाउन के बजह से सख्ती बढ़ा दी है। जयनगर स्थित एसएसबी 48वीं

बटालियन के कमांडेंट शंकर सिंह ने बताया कि भारत नेपाल सीमा पहले से सील है। खुली

सीमा रहने के कारण कुछ दिनों से लोग आ जा रहे थे। कोरोना महामारी को देखते हुए

सख्ती बढ़ा दी गई है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from नेपालMore posts in नेपाल »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version