fbpx Press "Enter" to skip to content

भारत ने अपने गेंदबाजों के दम पर दक्षिण अफ्रीका को फॉलोअन कराया




  • जीत से अब महज दो विकेट की दूरी पर है भारतीय टीम

रांची: भारत ने अपने गेंदबाजों के दम पर सोमवार को दक्षिण अफ्रीका को

फॉलोआन के लिये मजबूर कर दिया और लगातार दूसरी पारी के लिये उतरी

मेहमान टीम के तीसरे दिन की समाप्ति तक 132 रन पर आठ विकेट निकाल

फ्रीडम ट्रॉफी में अपनी क्लीन स्वीप सुनिश्चित कर दी। पुणे के बाद रांची में

भी फॉलोऑन की शर्मिंदगी झेल रही मेहमान टीम ने दूसरी पारी में और भी

निराशाजनक बल्लेबाजी दिखाई और टीम ने मात्र 36 रन पर अपने पांच

विकेट गंवा दिये। मेहमान टीम अभी 46 ओवर में आठ विकेट पर 132 रन

बना चुकी है तथा भारत के स्कोर से 203 रन पीछे है। उसके मात्र दो विकेट ही

बचे हैं।

थियूनिस डी ब्रूएन 30 रन तथा एनरिच नोर्त्जे पांच रन बनाकर नाबाद हैं।

थियूनिस और एनरिच ही अभी विकेट पर जमे हुए हैं

इसी के साथ भारत की फ्रीडम ट्रॉफी में 3-0 से क्लीन स्वीप अब केवल

औपचारिकता मात्र रह गयी है। दक्षिण अफ्रीका को फॉलोआन कराने में

भारतीय गेंदबाजों का भरपूर योगदान रहा।

तेज गेंदबाज उमेश यादव ने जहां पहली पारी में तीन विकेट लिये

वहीं दूसरी पारी में उन्होंने 35 रन पर दो विकेट निकाले जबकि मोहम्मद

शमी ने 10 ओवर में 22 रन पर दो विकेट के जबरदस्त प्रदर्शन के बाद

दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका के नौ ओवर में केवल 10 रन पर तीन विकेट

उखाड़ दिये।

लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने दोनों पारियों में तीन विकेट निकाले वहीं

टेस्ट पदार्पण कर रहे स्पिनर शाहबाज नदीम ने पहली पारी में 22 रन पर

दो विकेट निकाले। दूसरी पारी में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने खाता

खोला और मैच में अपना पहला विकेट निकाला।

भारत ने अपने तमाम गेंदबाजों का पूरा फायदा उठाया

उन्होंने कैगिसो रबादा (12) को जडेजा के हाथों कैच करा दिन का

आखिरी विकेट लिया।

भारत ने तीसरे दिन ड्रिंक्स के बाद दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 56.2 ओवर

में 162 रन के मामूली स्कोर पर समेट दी जिससे उसे 335 रन की विशाल

बढ़त मिल गयी और उसने लगातार दूसरे मैच में मेहमान टीम से फॉलोऑन

कराया।

हालांकि दूसरी पारी में भी दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों का

सामना नहीं कर सके और यादव ने क्विंटन डी काक(5) को बोल्ड कर विकेट

खाता खोल दिया।

दूसरे ओपनिंग बल्लेबाज डीन एल्गर 16 रन बनाकर रिटायर्ड हर्ट हो गये।

जुबाएर हम्जा को शमी ने खाता भी नहीं खोलने दिया जबकि कप्तान फाफ डू

प्लेसिस शमी की गेंद पर पगबाधा हो गये। प्लेसिस पहली पारी में 1 रन और

दूसरी पारी में 4 रन पर आउट हुये। तेम्बा बावूमा को भी शमी ने कोई रन नहीं

बनाने दिया और साहा के हाथों कैच करा भारत को चौथा विकेट दिला दिया।

आया राम गया राम की स्थिति में खेल रही मेहमान टीम के शुरूआती छह

बल्लेबाज दहाई में भी नहीं पहुंचे। जार्ज लिंडे (27 रन) और डेन पिएट (23 रन)

ने 31 रन की पहली बड़ी साझेदारी की। लिंडे को नदीम ने रनआउट किया।

चौथे दि में जीत के लिए भारत को सिर्फ दो विकेट और चाहिए

पिएट ने फिर ब्रुएन के साथ 31 रन जोड़े। ब्रुएन संयम से रन बनाते रहे और

42 गेंदों में चार चौके और एक छक्के की मदद से 30 रन बनाकर नाबाद लौटे

जो दूसरी पारी का सबसे बड़ा स्कोर भी है। उनके साथ नोर्त्जे पांच रन पर

नाबाद हैं। ऑफ स्पिनर अश्विन ने रबादा को जडेजा के हाथों कैच करा दिन

का आखिरी और दक्षिण अफ्रीका का आठवां विकेट निकाला।

रबादा ने 16 गेंदों में तीन चौके लगाकर 12 रन बनाये।दक्षिण अफ्रीका ने कल

अपने 9 रन पर दो विकेट गंवा दिये थे। उसके बल्लेबाजों जुबाएर हम्जा ने

शून्य और कप्तान प्लेसिस ने एक रन से अपनी पारियों को आगे बढ़ाया।

प्लेसिस हालांकि अपने कल के स्कोर में कोई इजाफा नहीं कर सके और तीसरे

दिन पांच गेंदों बाद ही तेज गेंदबाज उमेश यादव ने उन्हें बोल्ड कर भारत को

दिन का पहला और विपक्षी टीम का तीसरा विकेट दिला दिया।

हम्जा हालांकि एक छोर संभालकर खेलते रहे और 16 रन पर तीन विकेट से

टीम के स्कोर को 107 तक ले गये। उन्होंने 79 गेंदों में 10 चौके और एक

छक्का लगाकर 62 रन की अर्धशतकीय पारी खेली।

भारत ने अपने नये गेंदबाजों को भी मौका दिया और सफल रहे

उन्हें जडेजा ने बोल्ड कर चौथा विकेट निकाला। टीम के इसी स्कोर पर फिर

तेम्बा बावूमा भी चलते बने जिन्हें पदार्पण खिलाड़ी शाहबाज नदीम ने विकेट

के पीछे रिद्धिमान साहा को कैच कराया। बावूमा ने 72 गेंदों में पांच चौके

लगाकर 32 रन बनाये। बावूमा और हम्जा ने 91 रन की उपयोगी अर्धशतकीय

साझेदारी की। हैनरिक क्लासेन (6) को जडेजा ने ही बोल्ड किया और लंच तक

दक्षिण अफ्रीका के 119 रन पर छह विकेट निकाल दिये।

लंच के बाद अफ्रीकी टीम ने अपने अगले चार विकेट 33 रन के अंतर पर गंवा

दिये। लिंडे ने छोर संभालने का प्रयास किया और 81 गेंदों में तीन चौके और

एक छक्का लगाकर 37 रन बनाये। वह दहाई के आंकड़े तक पहुंचने वाले टीम

के तीसरे बल्लेबाज रहे जिनका संघर्ष यादव ने तोड़ा और उन्हें नौवें बल्लेबाज

के रूप में आउट किया। डेन पिएट (4) को मोहम्मद शमी ने पगबाधा किया।

रबादा (शून्य) को यादव ने रनआउट किया जबकि एनरिच नोर्त्जे(4) को

नदीम ने पगबाधा कर विपक्षी टीम की पारी समेट दी। ड्रिंक्स के बाद दक्षिण

अफ्रीका की पारी 56.2 ओवर में 162 रन पर ढेर हो गयी और पहली पारी में

अपने नौ विकेट पर 497 रन की बदौलत भारत ने उससे फॉलोऑन करा

लिया। यह लगातार दूसरा मौका है जब उसे फॉलोआन करना पड़ा है।

दक्षिण अफ्रीका को इस दौरे में दूसरी बार फॉलोअन करना पड़ा

इससे पहले पुणे टेस्ट में भी मेहमान टीम को फॉलोऑन करना पड़ा था जिस

मैच में उसे पारी और 137 रन से शिकस्त झेलनी पड़ी।

भारत ने पहला टेस्ट 203 रन से जीता था और तीन टेस्टों की सीरीज में

वह 2-0 से पहले ही अपराजेय है। उसके लिये रांची में विपक्षी टीम को

व्हाइटवॉश करना अब औपचारिकता मात्र रह गयी है।

आखिरी बार दोनों टीमों के बीच फ्रीडम ट्रॉफी 2017-18 में दक्षिण अफ्रीका

की जमीन पर हुई थी जहां मेजबान टीम 2-1 से जीती थी।

वहीं भारत इस सीरीज जीत से टेस्ट चैंपियनशिप में भी अपनी स्थिति

और मजबूत कर लेगा।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from क्रिकेटMore posts in क्रिकेट »
More from खेलMore posts in खेल »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

2 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: