Press "Enter" to skip to content

देश में कोरोना संक्रमण के 29 लाख से अधिक टेस्ट

नयी दिल्लीः देश में कोरोना संक्रमण के 29 लाख से अधिक टेस्ट हो चुके हैं और पुष्ट

संक्रमित मरीजों की जो संख्या सामने आ रही है, वह मात्र 4.4 प्रतिशत ही है और विश्व के

अन्य देशों में बड़े पैमाने पर लोगों की जांच की जा रही है वहां भी संक्रमितों का यही

प्रतिशत निकल रहा है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद(आईसीएमआर) देश में अब

तक कोरोना के 29,43421 टेस्ट कर चुका है और पिछले 24 घंटों में 108623 नमूनों की

जांच की गई है। इस समय देश में कोरोना के पुष्ट मरीजों की संख्या 1,31,868 हो गई है

तथा कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 73,560 है। देश में अभी तक कोरोना के 54,440

मरीज ठीक हो चुके हैं और पिछले 24 घंटों में 2657 मरीज ठीक हो चुके हैं जिन्हें मिलाकर

देश में कोरोना मरीजों के ठीक होने की दर 41.28 प्रतिशत हो गई है। शनिवार से देश में

कोरोना मरीजों की संख्या में 6767 मरीजों का इजाफा हुआ है। राजधानी दिल्ली में भी

कोरोना के मामलों की संख्या बढ़ रही है और कोरोना से निपटने की तैयारियों का जायजा

लेने के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ड़ा हर्षवर्धन ने रविवार को यहां

चौधरी ब्रहमप्रकाश चरक संस्थान का दौरा किया। यह संस्थान डेडिकेटिड कोविड हेल्थ

सेंटर है। उन्होंने यहां उपलब्ध विभिन्न सुविधाओं, वार्डों और उपचार करा रहे मरीजों के

बारें मे जानकारी ली। केन्द्र सरकार देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर काफी सतर्क

है और इससे निपटने के उपायों की निगरानी उच्च स्तर पर की जा रही है और जिन राज्यों

में कोरोना के मामले अधिक सामने आ रहे आ रहे हैं वहां उपयुक्त ‘‘कंटेनेमेंट ’ रणनीति

पर जोर दिया जा रहा है।

देश में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कंटेनमेंट रणनीति

मंत्रालय के दिशानिर्देश के अनुसार डेडिकेटिड कोविड हेल्थ सेंटर वो अस्पताल हैं जिनमें

मध्यम दर्जें के लक्षणों वाले कोरोना मरीजों का इलाज किया जाएगा और इनमें कोरोना

मरीजों के उपचार के लिए एक अलग ब्लॉक होना चाहिए अथवा पूरे अस्पताल में कोरोना

मरीजों के इलाज की सुविधा होनी चाहिए तथा मरीजों के प्रवेश और निकास के अलग

रास्ते भी अलग होने जरूरी हैं। केन्द्र सरकार कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए

सभी स्तरों पर महामारी रोग विशेषज्ञों की सलाह ले रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार

देश में अभी तक समय कोरोना से निपटने के लिए 3027 कोविड समर्पित अस्पतालों,

कोविड हेल्थ सेंटरों और 7013 कोविड केयर सेंटरों की पहचान की जा चुकी है। इनके

अलावा 2.81 लाख आइसोलेशन बिस्तर और 31250 से अधिक आईसीयू बिस्तरों और

109888 ऑक्सीजन युक्त बिस्तरों को पहले ही कोविड समर्पित अस्पतालों और कोविड

हेल्थ सेंटरों में चिह्नित किया जा चुका है। देश में कोरोना के अधिक मामले महाराष्ट्र,

तमिलनाडु, गुजरात, मध्यप्रदेश, दिल्ली,पश्चिम बंगाल और राजस्थान में देखे जा रहे है

और इन राज्यों के 11 नगर निगम क्षेत्रों में देश में पाए जाने वाले कोरोना के कुल मामलों

का 70 प्रतिशत ‘वायरल लोड’ यानि कोरोना भार है। केन्द्र सरकार कोरोना वायरस

‘कोविड-19’ को लेकर शुरू से ही काफी सतर्क रही है और इससे निपटने की तैयारी

आक्रामक एवं चरणबद्ध तरीके से की गई थी और इसी का नतीजा है कि कोरोना वायरस

का असर विकसित देशों की तुलना में भारत में बहुत कम है।

दुनिया के मुकाबले भारत में मौत का आंकड़ा कम है

विश्व में जहां कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की दर 6.65 प्रतिशत है, वहीं देश में

इसकी दर मात्र 3.06 प्रतिशत है। देश में जितने सक्रिय मामले हैं, उनके मात्र 2.94 प्रतिशत

मरीज ही आईसीयू में हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद, केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं

परिवार कल्याण मंत्रालय और नेशनल सेंटर फार डिसीज कंट्रोल तथा राज्य सरकारों के

सहयोग से 60 से अधिक जिलों में समुदाय आधारित सीरो-सर्वेक्षण करा रहा है ताकि

भारतीय आबादी में कोविड-19 संक्रमण के स्तर का पता लगाया जा सके।

[subscribe2]

Spread the love
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

2 Comments

  1. […] देश में कोरोना संक्रमण के 29 लाख से अधिक…By Chhabi Vermaनयी दिल्लीः देश में कोरोना संक्रमण के 29 लाख से अधिक टेस्ट हो चुके हैं… Leave a Comment […]

... ... ...
error: Content is protected !!