fbpx Press "Enter" to skip to content

आलू के बोरे में पकड़ी गयी गांजे की तस्करी, चालक था अंजान

इस्लामपुर : आलू के बोरे में गांजा की तस्करी देखकर खुद पुलिस वाले भी हैरान हो गये।

दरअसल वर्तमान में राहत सामग्री भेजे जाने पर नर्मी बरते जाने की वजह से ही तस्करों ने

माल भेजने का नया तरीका खोज निकाला है। लेकिन इस बार आलू के बोरे में काफी

अधिक मात्रा मे गांजा पाये जाने के बाद फिर से गश्ती और जांच कड़ी कर दी गयी है।

राहत सामग्री के नाम पर जिन वाहनों की जांच नहीं हो रही थी, उन्हें भी अब नियमित तौर

पर रोका जाने लगा है। अगर आलू के बोरे से लदी एक गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त नहीं होती तो

शायद पुलिस को इसकी जानकारी भी नहीं मिलती। जिस गाड़ी में तस्करी का यह गांजा

पाया गया वह 31 नंबर नेशनल हाईवे से जा रही थी। यह गाड़ी कूचबिहार से दक्षिण

दिनाजपुर की तरफ जा रही है। अचानक दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद उस पर लदा आलू के

बोरे नीचे गिर गये। इन बोरों में से कुछ फट गये तो अंदर रखा गांजा भी बाहर निकल

आया। इसे स्थानीय लोगों ने देखा। दुर्घटनाग्रस्त वाहन के करीब पहुंचने वाले ग्रामीणों से

तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने वहां पहुंचकर सारा माल जब्त किया। इस

सिलसिले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। गोपाल राय नामक यह व्यक्ति

सिल्लीगुड़ी का निवासी है। इस गाड़ी पर एक और व्यक्ति सवार था। लेकिन दुर्घटना के

तुरंत बाद ही उग्र भीड़ को देख वह अन्य व्यक्ति चुपके से वहां से भाग निकला।

आलू के बोरे से गांजा निकाल कर किया वजन

पुलिस अधीक्षक सचिन मक्कड़ ने बता कि अब मामले की जांच प्रारंभ कर दी गयी है।

फिलहाल आलू के बोरे से गांजा निकालकर उसका वजन किया जा रहा है। प्रारंभिक जांच

में गाड़ी के चालक होने का दावा करने वाले गोपाल राय ने कहा कि उसे सिर्फ आलू के बोरे

को पहुंचाने की जिम्मेदारी दी गयी थी। उसे खुद भी नहीं मालूम था कि आलू के बोरे में

अंदर गांजा भरा हुआ है। गाड़ी उलटने के बाद बोरा फट जाने के बाद ही उसे पता चला कि

इसके अंदर गांजा रखा हुआ था। वह बार बार अपने ब्यान में इसी बातों का जिक्र किया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!