fbpx Press "Enter" to skip to content

ईरान के खिलाफ आक्रमण में कांग्रेस की मंजूरी की जरूरी नहीं: ट्रंप




वाशिंगटनः ईरान के खिलाफ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आक्रामक तेवर अब भी कायम है।

उन्होंने कहा है कि ईरान के खिलाफ आक्रमण शुरू करने के लिए उन्हें कांग्रेस (संसद) की मंजूरी लेने की जरूरत नहीं है।

श्री ट्रंपने द हिल अखबार को दिये साक्षात्कार में कहा कि उन्हें कांग्रेस की अनुमति लिये बिना ईरान पर आक्रमण करने का अधिकार है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम कांग्रेस को हमेशा जानकारी दे रहे हैं कि हम क्या कर रहे हैं,

लेकिन हमें यह कानूनी रूप से नहीं करना है।’’

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के डेमोक्रेटिक नेताओं ने मांग की है कि

ईरान या अन्य किसी देश के खिलाफ किसी आक्रमण से पहले श्री ट्रंप को कांग्रेस से अनुमति लें।

ईरान के खिलाफ आक्रमण के बयान पर यूरोपिय देशों का आग्रह

फ्रांस ,जर्मनी और ब्रिटेन ने खाड़ी में गहराते तनाव पर चिंता व्यक्त करते हुए

अमेरिका और ईरान से शांति बहाली के लिए अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत

बातचीत के लिए आगे आने का आग्रह किया है।

तीनों यूरोपीय देशों ने ईरान मुद्दे पर सोमवार को सुरक्षा परिषद की बंद कमरे में हुयी बैठक के बाद

एक बयान जारी करके कहा,‘‘हम ईरान द्वारा गुरुवार को एक अमेरिकी ड्रोन को

मार गिराये जाने के बाद खाड़ी में और बढ़ते तनाव को लेकर बेहद चिंतित हैं।

तनाव के चरम पर पहुंचने के बाद स्थिति विस्फोटक हो सकती है।

हम चाहते हैं कि अमेरिका और ईरान तनाव कम करने के लिए अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत बातचीत के लिए आगे आयें।’’

तीनों देशों ने ओमान की खाड़ी में हाल ही हुए तेल टैंकरों पर हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा,

‘‘ यह हमला समुद्री क्षेत्र में परिवहन की आजादी के अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।

इसके उल्लंघन से पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचने का खतरा है।

यह हमला पहले से ही तनावपूर्ण स्थिति में आग में घी की तरह है।’’

तीनों देशों ने ईरान से परमाणु समझौते को अमल में लाने का आग्रह किया।



Rashtriya Khabar


2 Comments

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com