fbpx Press "Enter" to skip to content

असंख्य ट्रैक्टरों का काफिला हर तरफ से बढ़ रहा राजधानी की तरफ

  • दिल्ली पुलिस ने किसानों को अनुमति दी

  • उत्तर प्रदेश में डीजल नहीं मिलेगी उन्हें

  • गणतंत्र दिवस परेड में हस्तक्षेप नहीं हो

  • किसान नेता भी सुरक्षा के प्रति पूर्ण सतर्क

राष्ट्रीय खबर

नईदिल्लीः असंख्य ट्रैक्टरों का काफिला देश की राजधानी की सीमा की तरफ हर दिशा से

बढ़ रहा है। किसान नेताओं के साथ वार्ता के बाद दिल्ली पुलिस ने इस ट्रैक्टर परेड की

इजाजत तो दे दी है लेकिन यह स्पष्ट कर दिया है कि किसानों को गणतंत्र दिवस समारोह

में किसी किस्म के हस्तक्षेप की इजाजत नहीं होगी। पुलिस ने इसके संबंध में अपनी तरफ

से सुरक्षा के कड़े प्रबंध कर लिये हैं। बताया गया है कि जरूरत पड़ने पर आपात स्थिति में

अतिरिक्त बलों की भी तैनात की जाएगी।

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों की वापसी की मांग पर दो माह से आंदोलनरत किसानों

ने सरकार के उस प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया, जिसमें डेढ़ वर्षों तक इन कानूनों को

स्थगित करने और नये सिरे से पूरे मसले पर विचार करने की बात कही गयी थी। किसानों

ने पहले से ही अपनी तरफ से 26 जनवरी को अपने आंदोलन को तेज करने के लिए पहले

से ही 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने की घोषणा की थी। पहले इस ट्रैक्टर परेड को

लेकर कई किस्म की शंकाएं थी। लेकिन आंदोलनकारियों के नेताओं ने साफ कर दिया है

कि वे दिल्ली की परिधि में अपनी परेड निकालेंगे और वहां से अपने अपने इलाकों में

वापस लौट जाएंगे। दिल्ली पुलिस ने अपनी तरफ से इसकी अनुमति प्रदान कर दी है।

किसान नेताओं ने भी स्पष्ट कर दिया है कि दिल्ली के मुख्य गणतंत्र दिवस परेड की

समाप्ति के बाद ही वे अपनी परेड निकालेंगे। इसके पहले सभी को तैयार हो जाने के लिए

आज दिन भर सभाओं का आयोजन कर परेड में शामिल होने वाले किसानों को बार बार

हिदायतें दी गयी।

असंख्य ट्रैक्टरों का काफिला रिंग रोड से गुजरेगा

दिल्ली पुलिस से मिली अनुमति के मुताबिक आंदोलनकारियों का असंख्य ट्रैक्टरों का

जत्था रिंग रोड होते हुए गुजरेगा। यह रिंग रोड दिल्ली की परिधि में बना हुआ है। किसान

नेताओं ने पहले ही दावा किया है कि उनकी परेड करीब एक सौ किलोमीटर लंबी होगी और

सरकार को किसानों की असली ताकत का अंदाजा भी हो जाएगा। किसानों ने अपने

आंदोलन के दो माह पूरे होने के अवसर पर दिल्ली चलों का नारा दिया था लेकिन गणतंत्र

दिवस समारोह की प्रतिष्ठा को देखते हुए तिरंगे के साथ इसे ट्रैक्टर परेड में बदल दिया

गया है।

दूसरी तरफ यह जानकारी भी मिली है कि आंदोलनकारियों के ट्रैक्टरों को उत्तर प्रदेश की

सीमा मे डीजल नहीं देने के आदेश जारी कर दिये गये हैं। जैसे ही यह सूचना सार्वजनिक

हुई, किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि उत्तर प्रदेश के किसानों को यह निर्देश दिये

गये हैं, वे जहां कहीं भी हैं, वहीं सड़क जाम कर दें। मिली जानकारी के मुताबिक पश्चिमी

उत्तर प्रदेश से अनेक किसान अपनी ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली की तरफ बढ़ रहे हैं।

मुरादाबाद और गाजीपुर में इनकी तादाद वाकई असंख्य जैसी ही  है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: