fbpx Press "Enter" to skip to content

भूटान की सीमा पर जंगल से फिर काफी हथियार बरामद

  • केंद्रीय गृह मंत्रालय पूर्वोत्तर में सुरक्षा ढील देने के पक्ष में नहीं

  • खुफिया एजेंसी ने दी है चीन की रणनीति की विस्तृत जानकारी

  • पूर्वोत्तर के उग्रवादियों को हर तरह की मदद देने लगा है चीन

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: भूटान की सीमा पर फिर सुरक्षा बलों ने छापामारी की है। इस बार की छापामारी

में भी काफी मात्रा में हथियार बरामद किये गये है। खास बात यह है कि इस बार बरामद

किय गये हथियारों में अधिकांश चीन में निर्मित हैं। याद रहे कि भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी

ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को बताया है कि चीनी सरकार ने हथियारों के साथ नॉर्थ ईस्ट

विद्रोही की सहायता करना शुरू कर दिया है। इस गुप्त सूचना को प्राप्त करने पर, केंद्रीय

गृह मंत्रालय ने भारतीय सेना और सभी राज्य पुलिस को उत्तर पूर्वी भारत में सभी

आतंकवादी समूहों के खिलाफ एक तलाशी अभियान शुरू करने का निर्देश दिया है। केंद्र

सरकार से मिली गुप्त सूचना और निर्देशों के बाद, सेना और पुलिस ने गणतंत्र दिवस से

पहले और अभी भी असम और सभी उत्तर-पूर्वी राज्यों में तलाशी अभियान शुरू कर दिया

है।असम के कोकराझार जिले में रविवार की रात भारत-भूटान सीमा के पास स्थित जंगली

क्षेत्रों से भारी मात्रा में चीन में निर्मित हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया।

भूटान की सीमा पर गुप्त सूचना पर हुई छापामारी

कोकराझार के पुलिस अधीक्षक राकेश रौशन ने कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर

सरायबिल सीमा चौकी क्षेत्र के कतलीबिल जंगल में और जिले के सेफनगुरी थाना क्षेत्र के

बेलगुरी जंगल में दोपहर को अभियान चलाया गया।उन्होंने कहा कि इस दौरान एक

मशीन गन, चार मैगजीन के साथ पांच एके-56 रायफल, 244 कारतूस और एक इनसास

रायफल बरामद की गयीं। अधिकारी के अनुसार इनके अलावा, पांच मैगजीन के साथ

9एमएम कीतीन पिस्तौल, दो मैगजीन के साथ .22 की एक चीनी बंदूक और एक हथगोला

आदि जब्त किये गये।इससे पहले 15 अगस्त को भारतीय सेना ने असम के उदलगुरी

जिले में एक तलाशी अभियान में भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद और विस्फोटक

बरामद हुए थे।

गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त, मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि

मामले की जांच चल रही है। यहाँ उल्लेख है कि गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार उत्तर-पूर्व

के आतंकवादियों ने पूरी तरह से चीन चीन के हथियार की उपयोग कर रहे हैं। सेना और

पुलिस विद्रोही को खिलाफ चलाया गया यह अभियान सफल रहा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from उत्तर पूर्वMore posts in उत्तर पूर्व »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

One Comment

Leave a Reply