fbpx

अस्पताल बनकर तैयार, उद्घाटन का इंतजार, कब मिलेगी लोगों इलाज की सुविधा

अस्पताल बनकर तैयार, उद्घाटन का इंतजार, कब मिलेगी लोगों इलाज की सुविधा

कुडू : अस्पताल बनकर तैयार है लेकिन उसके विधिवत उदघाटन का इंतजार है। लोहरदगा

जिले के कुडू प्रखंड अंतर्गत पहाड़ों और जंगलों से घिरे सुदूरवर्ती क्षेत्र सलगी लालू टोली

(महुडर) में 2.30 करोड़ की लागत से बना स्वास्थ केंद्र आज तक चालू नही हो स्का। जिसके

चलते प्रखण्ड के अंतिम छोर में बसे पंचायत के मरीजों को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ लेने मे

भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सुदूरवर्ती क्षेत्र के लोगों को बेहतर चिकित्सा

उपलब्ध कराने के लिए बने इस अस्पताल यानी स्वास्थ्य उप केंद्र के चालू नही होने के पीछे

की वजह जिम्मेदारों की उदासीनता या कुछ और कारण रहा हो परन्तु 100 बिस्तर वाला यह

नवनिर्मित स्वास्थ्य केंद्र आज भी मुंह उठाए उद्घाटन की बाट जोह रहा है। लोगो का कहना है

कि विभाग और प्रशासन चाहे तो कुछ ज़रूरी प्रक्रिया पूरी कर इसे आरंभ किया जा सकता है।

स्थानीय लोगों की माने तो ईसे चालू करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पहल तक शुरू नहीं

की। यहां न तो डॉक्टर और न ही किसी स्वास्थ्यकर्मी की नियुक्ति की गई, जिसके कारण

अस्पताल में इलाज शुरू नहीं हो सका। इधर उद्घाटन में हो रही देरी से भी लोगों के दिमाग में

कई सवाल उठ रहे हैं। सवाल उठना लाजमी भी है क्योंकि कोरोना महामारी में जहां अस्पताल

में मरीजों को भर्ती करने के लिए जगह नहीं मिल रही थी अस्पताल से लेकर बेड और

ऑक्सीजन की किल्लत से जूझते हुए कई लोगों ने अपनी जान गंवाई। इस महामारी में ऐसे

भवनों को इस्तेमाल में लाने के बजाए, विभाग दूसरे स्थानों पर स्वास्थ्य सुविधा बहाल करने

की कार्रवाई करता रहा। स्थानीय लोगों का कहना है कि महामारी के इस दौर में इस भवन का

उपयोग होना चाहिए था, जिससे मरीजों को लाभ भी मिलता और इस भवन की सार्थकता भी

सिद्घ हो पाती।

अस्पताल बनकर क्या हुआ कोरोना मे काम नहीं आया

ग्रामीणों का कहना है अब जो स्थिति हैं उसमें इस बंद पड़े अस्पताल को शुरू करना जरुरी है।

अगर इस स्वास्थ केन्द्र को चालू करवाकर और डॉक्टर और नर्स की नियुक्ति हो जाती है तो

इस क्षेत्र के लोगों को काफी सुविधा मिलेगी। पंचायत के लोगों ने इस बंद पड़े अस्पताल में

जरुरी सुविधाएं मुहैया कराकर उसे शुरू कराने की मांग जिला प्रशासन से की है। निर्माण से

पूर्व में भूमि विवाद और बाद निर्माण के समय नक्सलियों के निशाने पर रहे इस अस्पताल को

पुलिस की सुरक्षा में बड़ी मशक्कत के बाद बनाया गया था। बताते चलें कि सलगी के महूडर में

जिस ज़मीन पर उप स्वास्थ केंदर का निर्माण होना था वे थाना सं 5, खाता न. 352, प्लाट न.

1195 जिसका कुल रकबा 08.37 एकड़ था। ज़मीन पर कुछ विवाद था जिसके निपटारे के

लिए तत्कालीन उपायुक्त बिनोद कुमार और अपर समाहर्ता रंजित कुमार सिन्हा कुडू के

तत्कालीन अंचलाधिकारी रविश राज सिंह ने 21 नवंबर वर्ष 2017 मे स्वास्थ्य उप केंद्र के

लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण कर ग्रामीणों से बात कर समाधान किया था। तब कहीं

सलगी पंचायत को स्वास्थ्य केंद्र की सौगात मिली थी। फिर इसके निर्माण में दूसरी परेशानी

ने दस्तक दी और 3 दिसंबर 2018 में निर्माण कार्य में लगे मज़दूरों के हथियारबंद अपराधियों

ने मार पिट कर काम बंद करवा दिया।

उग्रवादियों की वजह से कई बार काम बंद हो गया था

अस्पताल बनकर तैयार होने के बीच ही दो माह तक काम बन्द रहने के बाद शुरू हुए निर्माण

कार्य को 9 फरवरी 2019 को एक बार फिर उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट

(पीएलएफआइ) द्वारा हमला कर कार्य में लगे मज़दूरों के साथ जम कर मार पीट की और

मज़दूरों के कपड़े, बैग सहित अन्य सामानों को आग के हवाले कर दिया था। और मज़दूरों से 9

मोबाईल और उनके के पास से करीब दस हज़ार रूपये भी लूट लिया था। जिसके बाद एक बार

फिर काम बन्द हो गया। तमाम कठिनाइयों को पार कर जब भवन बना तो एक बार फिर से

ग्रहण लगा हुआ है। जिससे आजतक उदघाटन नहीं हो सका।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: