fbpx Press "Enter" to skip to content

ऑनर किलिंग के मामले में मां-बाप, चाची और चाचा को फांसी की सजा




कोडरमा: ऑनर किलिंग के एक मामले में कोडरमा जिला एवं सत्र न्यायाधीश रामाशंकर

सिंह की अदालत ने चार लोगों को फांसी की सजा सुनाई है। सजा पाए लोगों में एक ही

परिवार के व मृतका के पिता किशन साहू (43 वर्ष), माता दुलारी देवी (35 वर्ष), चाचा

सीताराम साहू (40 वर्ष) और चाची पार्वती देवी (38 वर्ष) शामिल हैं। यह मामला तीन साल

पहले का है। जिले के चंदवारा थाना क्षेत्र के मदनगुंडी में ऑनर किलिंग का मामला सामने

आया था। यहां गांव के ही दूसरी जाति के युवक से शादी करने पर परिजनों ने अपनी बेटी

की गला दबाकर हत्या कर दी थी। हत्या के बाद आरोपी गुपचुप तरीके से युवती के शव का

अंतिम संस्कार करने की तैयारी में थे। इसी बीच सूचना पर पहुंची पुलिस ने झाड़ी के बीच

खटिया पर रखे शव को जब्त कर लिया। 20 वषीर्या सोनी कुमारी की हत्या के आरोप में

युवती के पिता किशन साहू, मां दुलारी देवी व चाचा सीताराम साहू, चाची पार्वती देवी को

गिरफ्तार किया गया था।

कोडरमा में शादी के बाद दोनों की तस्वीरें भी सार्वजनिक हुई

मदनगुंडी निवासी 25 वर्षीय प्रदीप शर्मा पिता महेंद्र शर्मा का इसी गांव की सोनी कुमारी से

दो वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों शादी करने को लेकर तैयार थे, पर लड़की के

परिजन इसके लिए तैयार नहीं थे। घटना के करीब दस दिन पूर्व दोनों घर से फरार होकर

राजस्थान चले गए। वहां 18 मार्च 2018 को भीमाडीह स्थित एक मंदिर में दोनों ने हिंदू

रीति रिवाज से शादी कर ली थी। इसकी जानकारी चंदवारा में परिजनों को भी मिली। शादी

के बाद दोनों की तस्वीरें भी सार्वजनिक हुई। इसी बीच लड़की के परिजनों ने स्थानीय

मुखिया पति भुनेश्वर पंडित से मुलाकात की और दोनों के बीच रजामंदी से फैसला कराकर

रखने की बात कही। प्रेमी जोड़े चंदवारा वापस लौटे, यहां मुखिया पति की मौजूदगी में

युवक ने युवती को सौंप दिया था। इसी रात युवती अपने पिता के घर चली गई थी, जबकि

युवक अपने घर। पूरे मामले को लेकर गांव में पंचायत तय की गई थी, पर इससे पहले ही

26 मार्च 2018 की रात युवती की मौत हो गई।

ऑनर किलिंग के आरोपियों से तत्कालीन एसपी ने की थी पूछताछ

शुरूआत में संदिग्ध मौत का मामला सामने आया, पर सूचना पर पहुंचे पुलिस

अधिकारियों ने जब पूरी तहकीकात की तो मामला ऑनर किलिंग का निकला। युवती के

गले में निशान पाया गया। घटना को लेकर चंदवारा थाना प्रभारी सोनी प्रताप के बयान पर

एक केस दर्ज किया गया था। ऑनर किलिंग का मामला सामने आने पर तत्कालीन एसपी

शिवानी तिवारी ने आरोपियों से पूछताछ की। इस दौरान आरोपी पिता व चाचा ने घटना

को किस तरह अंजाम दिया इसकी पूरी जानकारी दी। आरोपी पिता ने स्वीकार किया था

कि रात में बेटी को समझा रहे थे की सुबह पंचायत में यह कहना है कि उक्त युवक के साथ

वह नहीं रहना चाहती है, पर वह इसके लिए तैयार नहीं हो रही थी। इसके बाद लड़की के

चाचा ने उसका पैर दबाए रखा और उन्होंने मुंह पर तकिया रख गला दबा दिया, इससे

सोनी की मौत हो गई थी। घटना के बाद गवाहों के बयान और अभिलेख पर उपस्थित

साक्ष्यों के आधार पर इस मामले को जघन्य हत्या मानते हुए चारों अभियुक्तों को फांसी

की सजा सुनाई गई है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कोडरमाMore posts in कोडरमा »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: