fbpx Press "Enter" to skip to content

हांगकांग के मुद्दे पर नाराज चीन ने कहा आंख फोड़ देंगे

  • अमेरिका सहित कई पश्चिमी देशों को दी धमकी
  • चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का ऐसा बयान
  • परेशान नहीं करते और किसी ने नहीं डरते भी नहीं

बीजिंगः हांगकांग के मुद्दे पर आलोचना करने भड़के चीन ने अमेरिका, ब्रिटेन,

ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और कनाडा को ‘आंखें’ निकाल लेने की धमकी दी है। इन पांचों ही

पश्चिमी देशों ने चीन के विरोधियों को हांगकांग में सांसद नहीं चुने जाने के लिए नए

नियम बनाने की आलोचना करने के लिए ‘फाइव आइज’ गठबंधन बनाया है। अमेरिका,

ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और कनाडा ने चीन से कहा है कि वह अपने नए नियमों

को वापस ले। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्तान झाओ लिजिआन ने पश्चिमी देशों को

चेतावनी दी कि वे चीन के मामलों से दूर रहें। चीनी विदेश मं‍त्रालय के वुल्फे वॉरियर कहे

जाने वाले लिजिआन ने कहा, ‘पश्चिमी देशों को सतर्क रहना चाहिए अन्येथा उनकी आंखों

को निकाल लिया जाएगा।’ चीनी प्रवक्ता ने कहा, ‘चीन कभी कोई परेशानी नहीं खड़ी

करता है और न ही किसी चीज से डरता है।’

चीनी प्रवक्ता ने कहा कि पश्चिमी देशों को इस ‘सच्चाई को स्वीकार करना चाहिए’ कि

चीन पूर्व ब्रिटिश कॉलोनी हांगकांग को वापस पा चुका है। अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया,

न्यूजीलैंड और कनाडा ने आपस में खुफिया साझेदारी कर रखी है, जिसे ‘फाइव आइज़’

यानी पांच आंखें कहा जाता है। लिजिआन ने कहा, ‘उनकी पांच आखें हैं या दस, इससे कोई

फर्क नहीं पड़ता। अगर वे चीन की संप्रभुता, सुरक्षा और विकास संबंधी हितों को नुकसान

पहुंचाने की हिमाकत करते हैं तो उन्हें अपनी आंखों को लेकर सावधान रहना चाहिए जिन्हें

फोड़कर उन्हें अंधा किया जा सकता है।’

हांगकांग के मुद्दे के अलावा गलवान पर भी फोटो शेयर किया

शेन ने गुरुवार को एक गांव की तस्वीरें शेयर की थीं। उन्होंने अपने ट्वीट में बताया था कि

यह डोकलाम का इलाका है। चीन ने जो इलाका दर्शाया है वह भारत और चीन के बीच हुई

झड़प वाले स्थान से नौ किलोमीटर की दूरी पर है। यहां तक कि शेन ने पांगडा गांव का मैप

भी शेयर कर डाला जो भूटान की सीमा के 2 किमी अंदर था। बाद में शेन ने यह ट्वीट

डिलीट कर दिया। वहीं, ओपन इंटेलिजेंस सोर्स डेट्रेस्फा (detresfa) ने भी एक इमेज शेयर

की है और ताजा गांव बसाने का दावा किया है। वहीं, रिपोर्ट्स में बताया गया है कि चीन ने

यहां निर्माणकार्य पिछले साल ही शुरू कर दिया था। शेन के शेयर किए गए मैप और

वास्तविक स्थिति की तुलना की गई है। इसमें डोकलाम विवाद की जगह और ‘चीन के

बसाए गांव’ भी दिखाए गए हैं। एक और मैप में बताया गया है कि भूटान के अंदर पूर्व में

बसे इस गांव से सिक्किम पश्चिम में है, चीन उत्तर में। इस बारे में पुष्टि नहीं की जा

सकती है कि भूटान ने चीन को इस इलाके में गांव बसाने की इजाजत दी है या नहीं और

इस बारे में भूटान से सवाल किया गया है।

भूटान के गांव को भी अपना हिस्सा बताने के बाद डिलीट किया

गौरतलब है कि पांचों देशों के विदेश मंत्रियों ने कहा है कि हांगकांग के लोकतंत्र समर्थक

चार सांसदों को अयोग्य करार देने से संबंधित चीन सरकार का नया प्रस्ताव ‘सभी

आलोचकों की आवाज दबाने के सोचे-समझे अभियान’ का हिस्सा प्रतीत होता है। इन देशों

के संयुक्त बयान में प्रस्ताव को चीन की अंतरराष्ट्रीय बाध्यताओं और हांगकांग को

उच्चस्तरीय स्वायत्तता तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्रदान करने के उसके वादे का

उल्लंघन बताया गया है। ब्रिटेन ने लगभग 75 लाख की आबादी वाले हांगकांग शहर को

1997 में एक समझौते के तहत चीन को वापस सौंप दिया था, लेकिन समझौते में शर्त रखी

गई थी कि 50 वर्ष बाद स्थानीय मामलों में हांगकांग को स्वायत्तता प्रदान की जाएगी।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 0
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: