Press "Enter" to skip to content

हांगकांग ने कोरोना मरीजों के लिए नियम सख्त कर दिये




हांगकांगः हांगकांग की सरकार ने वहां आने वालों की कोरोना संक्रमण के नियम काफी सख्त कर दिये हैं। इसके तहत कोरोना संक्रमण पाये जाने के बाद ही संबंधित व्यक्ति को अलग अस्पताल में दाखिल करा दिया जाता है। वहां दाखिल होने के बाद आप बाहर कतई नहीं जा सकते।




आपको अस्पताल से कब छोड़ा जाएगा, यह वहां के चिकित्सकों पर निर्भर है। जो नियमित अंतराल में आपकी जांच करते रहते हैं। इसी कड़ाई की वजह से हांगकांग में स्थानीय स्तर पर अब कोरोना का कोई मरीज नहीं है। सरकारी सख्ती की वजह से सभी लोग कोरोना गाइड लाइनों का भी अच्छी तरह से पालन करते नजर आते हैं।

यहां तक कि बाजार में पैदल चलने वालों को भी बिना मास्क के नहीं देखा जा सकता है। मिली जानकारी के मुताबिक नौकरी पाने के बाद हांगकांग पहुंचे एक युवक की कोरोना जांच में पॉजिटिव रिपोर्ट आयी। उसके तत्काल ही एक अलग अस्पताल में बंद कर दिया गया।




अपने लोगों से मोबाइल संपर्क के जरिए डेरिल चैन नामक इस युवक ने सूचना दी है कि वहां से उसे कब छोड़ा जाएगा, इसकी कोई जानकारी नहीं है। यहां अस्पताल में मरीज अपनी मर्जी से कुछ खा भी नहीं सकता है।

हांगकांग ने सिर्फ चीन से प्रवेश के रास्ते खोल रखे हैं

बता दें कि हांगकांग दुनिया के उन शहरों में शामिल है, जहां स्थानीय स्तर पर कोरोना के बहुत कम मरीज पाये गये हैं। वरना चीन के कई शहरों में अनेक बार पूरी नाकाबंदी करने तक की नौबत आयी है। हांगकांग ने भी अभी सिर्फ चीन से आने वालों के लिए दरवाजे खोल रखे हैं।

बाहर से जो भी प्रवासी लोग आ रहे हैं, उन्हें भी नियमित तौर पर 21 दिनों के लिए क्वारेंटीन रहना पड़ता है। यह नियम सभी पर एक जैसा लागू है। इसके बीच आने वाले की सेहत की जांच होती रहती है ताकि उसमें कोरोना संक्रमण है अथवा नहीं उसका पता चल सके। पश्चिमी देशों से आने वालों के लिए हांगकांग अधिक सतर्क है क्योंकि संक्रमण का फैलाव भी पश्चिमी देशों से अधिक हो रहा है।



More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: