fbpx Press "Enter" to skip to content

हिंदू समाज ने किया जयसिंह यादव का पुतला दहन

  • जयसिंह यादव महावीर मंडल के एक गुट के अध्यक्ष
  • उनके साथ भाजपा नेता ललित ओझा भी लपेटे गये

  • बयान की इस संगठन के लोगों ने कड़ी निंदा की

  • दो वीडियो वायरल होने की वजह से गुस्सा भड़का

संवाददाता

रांचीः हिंदू समाज के बैनर तले फिराया लाल चौक पर जय सिंह यादव, चुन्नू यादव एवं

ललित ओझा का पुतला दहन किया गया। दो वीडियो वायरल होने की वजह से लोगों में

उपजी है गंभीर नाराजगी। इस समाज के लोगों का कहना था महावीर मंडल के कुछ

पदाधिकारी हिंदू छवि को धूमिल कर के एनआरसी के खिलाफ अपनी बयानबाजी कर रहे

हैं। इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ जो काफी चर्चा में है। इस जुलूस में शामिल

अधिकांश लोग रातू रोड से पैदल चलकर यहां पहुंचे थे। फिरायालाल चौक पर नारेबाजी

करने के बाद इनलोगों ने जयसिंह यादव का वहां पुतला दहन किया।

वीडियो में देखिये जयसिंह यादव का पुतला दहन

दरअसल यह सारा आक्रोश दो वीडियो की वजह से हैं, जो इनदिनों रांची में वायरल हो रहा

है। इस वीडियो में जो व्यक्ति जय सिंह यादव का इंटरव्यू ले रहा है, उसी ने एनआरसी के

विरोध में प्राइवेट संपत्ति को आगजनी की धमकी भी दी है। यह दोनो वीडियो सामने आने

के बाद लोगों की नाराजगी जय सिंह यादव के खिलाफ भड़की है। मजेदार स्थिति यह है

कि लोगों की निजी संपत्ति को आग लगाने की धमकी देने वाली ही पत्रकार बनकर जय

सिंह यादव एवं ललित ओझा का इंटरव्यू ले रहा है।

उल्लेखनीय है कि चुनाव नहीं कराने की वजह से श्री महावीर मंडल रांची पहले से ही दो

भागों में बंटी हुई है। जिला प्रशासन ने दोनों ही गुटों को आपस में समझौता कर लेने का

निर्देश दिया था। लेकिन अब तक की सूचना के मुताबिक इसका कोई समाधान नहीं

निकल पाया है। दोनों ही गुट अपना अलग अलग अस्तित्व बनाये रखे हुए हैं।

हिंदू समाज के प्रदर्शन से ललित ओझा भी फंसे

रोचक तथ्य यह है कि ललित ओझा भाजपा से जुड़े हुए हैं। उनकी मौजूदगी में ही जयसिंह

यादव ने एनआरसी और सीएए के खिलाफ उस व्यक्ति को बयान दिया जो खुद निजी

संपत्ति को आग लगाने की धमकी देने वाले वीडियो में शामिल हैं। इस युवक से बात करते

वक्त जयसिंह यादव यह कहते सुने जा सकते हैं कि उनके साथ ललित ओझा और अजय

सिंह यादव भी है। अब ललित ओझा उनके साथ खड़े नजर आने और बयान का वीडियो

वायरल होने के बाद उन्हें अपनी पार्टी के लोगों को यह सफाई देनी पड़ सकती है कि वह

पार्टी के साथ हैं अथवा पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat