fbpx Press "Enter" to skip to content

नामजद अभियुक्त की गिरफ्तारी को लेकर महावीर चौक में हुआ प्रदर्शन

  • दुर्गा मंदिर के पूजारी पर हमला का विवाद गहराया

  • मंदिर की संपत्ति हड़पने की साजिश की शिकायत

  • कोतवाली पुलिस ने अब तक नहीं की है कोई कार्रवाई

संवाददाता

रांचीः नामजद अभियुक्त होने के बाद भी उसकी गिरफ्तारी नहीं होने की वजह से कई हिंदू

संगठनों ने आज महावीर चौक पर ही रोषपूर्ण प्रदर्शन किया। वहां के दुर्गा मंदिर ट्रस्ट के

पूजारी को छुरा मारकर गंभीर रुप से घायल करने देने के मामले में नामजद अभियुक्त

गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया, यह सवाल भी पुलिस के लिए भारी पड़ गया है।

वीडियो में देखे पूरा घटनाक्रम

वहां कई लोगों ने इस घटना के विरोध में सोशल डिस्टेंसिंग बनाते हुए पोस्टर हाथ में लेकर

प्रदर्शन किया। कई संगठनों के पदाधिकारी भी वहां पहुंचे। जिनलोगों ने साफ साफ

चेतावनी दी कि अगर इस मुद्दे पर अभियुक्तों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं करती तो वे

इस आंदोलन को और बड़े पैमाने पर ले जाएंगे।

दुर्गा मंदिर ट्रस्ट की जमीन पर कब्जा करने को लेकर जारी विवाद के बीच ही पूजारी

शारदा नाथ उपाध्याय ने जो बयान दिया है, उसमें नामजद अभियुक्त के तौर पर निशांत

सिन्हा उर्फ निशु को ही अभियुक्त बताया गया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि

अभियुक्त पहले से ही उसे धमकी दे रहा था। इस प्राथमिकी में साफ साफ कहा गया है कि

वहां ट्रस्ट की जमीन पर दुकान बनाने की साजिश का विरोध करने की वजह से ही यह

हमला किया गया है। आरोपी पिछले छह महीने से उन्हें धमकी देता आ रहा था। इस

एफआइआर में यह भी दर्ज किया गया है कि करीब पंद्रह दिन पहले भी आरोपी ने रात को

परोक्ष तौर पर धमकी दी थी कि इस महानुभव को दुर्गा पूजा से पहले ही हटा देना है। इसके

बाद उनपर यह हमला किया गया है।

नामजद अभियुक्त को बचाने वाली पुलिस पर होगी जिम्मेदारी

आज प्रदर्शन में कई संगठनों के लोगों के एकत्रित होने के बाद माहौल गरमाता देख पुलिस

अधिकारी भी महावीर चौक पहुंचे। प्रदर्शनकारियों के कई प्रमुख नेताओं ने पुलिस से

नामजद अभियुक्त की गिरफ्तारी नहीं होने पर सीधा सवाल किया। पुलिस के अफसर इस

सवाल का संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके। वहां के प्रदर्शन के अंत में पुलिस को यह

चेतावनी दी गयी कि इस मामले की अगर लीपापोती करने की साजिश की गयी तो पूरे

शहर के स्तर पर एक और बड़ा आंदोलन खड़ा किया जाएगा। जिसकी सारी जिम्मेदारी

कोतवाली पुलिस की होगी क्योंकि अभियुक्त को थाना के अफसर ही बचा रहे हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from रांचीMore posts in रांची »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!