fbpx Press "Enter" to skip to content

तेज गति के स्पीड बोट के हादसे में 26 यात्री मारे गये

  • अमीनूल हक

ढाकाः तेज गति से स्पीड बोट चलाने की वजह से 26 लोगों की जान चली गयी। यह हादसा

पद्मा नदी में हुआ। ढाका के करीब मुंशीगंज के शिमुलिया घाट से सवारी लेकर चली यह

स्पीड बोट अत्यंत तेज गति से जाने लगी थी। इसी दौरान मादारीपुर के शिवचर बांग्ला

बाजार के पास तेज गति से जाती यह स्पीड बोट बालू लदे एक बड़े जहाज से टकरा गयी।

इसी जोरदार टक्कर की वजह से तीन बच्चों सहित 26 लोग नदी में डूब गये। इस हादसे

की सूचना मिलते ही नौ पुलिस और दमकल के लोग वहां पहुंचे। सूचना पर सेना और

कोस्टगार्ड की टीमें भी वहां पहुंच। सभी ने मिलकर वहां बचाव अभियान चलाया। प्रशासन

से मिली जानकारी के मुताबिक मरने वालों में अधिकांश लोग मादारीपुर शरीयतपुर इलाके

निवासी हैं। कांठालबाड़ी नौ पुलिस के निदेशक आशीकुर रहमान ने बताया कि इस तीब्र

गति से चलने वाली स्पीड बोट में शिमुलिया घाट से तीस यात्री सवार हुए थे। सिर्फ अधिक

गति की वजह से ही यह हादसा हुआ है। बड़े जहाज से टकराने के बाद यह स्पीड बोट उलट

गयी थी, जिससे सवार अधिकांश लोग डूबकर मर गये। किसी तरह छह लोग जिंदा बचे हैं।

कांठालबाड़ी नौ पुलिस के प्रभारी अब्दुल रज्जाक ने कहा कि सभी 26 लाशों को बरामद कर

लिया गया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन जारी होने की वजह से इस किस्म के नौ

परिवहन पर रोक लगी हुई है।

तेज गति से स्पीड बोट चलाने वाले कानून तोड़ रहे हैं

इसके बीच ही कुछ लोग अवैध तरीके से स्पीड बोट का संचालन कर रहे हैं। हो सकता है कि

कम समय में अपना कारोबार पूरा करने के मकसद से ही स्पीड बोट को इतनी अधिक

गति से चलाया जा रहा है। इसी तेज गति की वजह से वह सामने से आते बड़े जहाज को

देखकर भी अपना नियंत्रण कायम नहीं रख पाया। इस बारे में पूरे मामले की जांच की जा

रही है और तेज गति से स्पीड बोट चलाने के लिए जिम्मेदार लोगों की भी पहचान करने

का काम चल रहा है, जो नियम तोड़कर इस तरीके से अवैध कारोबार करन के साथ साथ

लोगों की जिंदगी भी खतरे में डाल रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from हादसाMore posts in हादसा »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: