fbpx Press "Enter" to skip to content

धरोहर श्रृंखला की 25वीं कड़ी को जारी किया कांग्रेस ने

  • राष्ट्रीय खबर

रांचीः धरोहर श्रृंखला की 25वीं कड़ी आज प्रदेश कांग्रेस द्वारा जारी की गयी है। प्रदेश

कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह खाद्य आपूर्ति एवं वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव, कांग्रेस

विधायक दल नेता आलमगीर आलम,मंत्री बादल पत्रलेख,बन्ना गुप्ता,प्रदेश कांग्रेस

कमिटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव, डा राजेश गुप्ता

छोटू,प्रोफेशनल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्षं आदित्य विक्रम जयसवाल,कांग्रेस नेता निरंजन

पासवान सहित कांग्रेस के वरीष्ठ नेताओं, पदाधिकारियों, विधायकों ,सांसदों ने अखिल

भारतीय कांग्रेस कमिटी द्वारा जारी धरोहर श्रृंखला की पच्चीसवीं वीडियो सोशल मीडिया

फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप पर अपलोड कर देश के वर्तमान पीढ़ियों को

अवगत कराने का काम किया

प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा रामेश्वर उराँव आज राष्ट्र निर्माण की अपने महान

विरासत कांग्रेस की श्रृंखला धरोहर की पच्चीसवीं वीडियो को अपने सोशल मीडिया

व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, फेसबुक एवं ट्विटर पर जारी पोस्ट को शेयर करने के उपरांत कहा

कि खेत और खलिहान पर जब भी अत्याचारी हुकूमतों ने अपने गिद्ध दृष्टि डाली है, देश के

किसान ने उसका कड़ा प्रतिरोध किया है और हुकुमतों को झुकना भी पड़ा है। बारदोली का

सत्याग्रह देश के धरोहर रूपी आसमान का ऐसा ही चमकता सितारा है जिसे आज की

धरोहर श्रृंखला में दर्शाया गया है।डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि राहुल गांधी जी का मानना

है कि किसान देश की रीढ़ हैं, और अगर किसान मजबूत है तो देश मजबूत है।यह सच भी

है कि कोई भी समझदार सत्ता या नेता किसानों को कमजोर करने या उन पर अत्याचार

करने के बारे में नहीं सोचेगा मगर अहंकारी और अत्याचारी सत्ताओं को इससे फर्क नहीं

पड़ता है,वो किसानों को खत्म करने के लिए काले कानून बनाती है,करो का बुझ लादती है,

जमीन जब्त कर लेती है, किसानों को जेल भेज देती है।1928 में गुजरात के बारदोली में भी

अंग्रेज हुकूमत यही सब कर रही थी।

धरोहर श्रृंखला में आजादी के आंदोलन की कई जानकारियां हैं

1925 में गुजरात का बारदोली बाढ़ और अकाल से जूझ रहा था,किसान भयानक आर्थिक

तंगी की चपेट में आ चुके थे और इसी दौरान बॉन्बे प्रेसीडेंसी ने लगान की दरों में 22% से

30% तक की निर्मम वृद्धि कर दी। इस तानाशाही फैसले का किसानों में आक्रोश होना

स्वाभाविक था, जब उच्च अधिकारियों ने किसानों की चिंताओं को अनसुना कर दिया तो

किसानों ने इस लगान वृद्धि के विरोध में सत्याग्रह करने का निर्णय लिया।बारदोली में

आयोजित किसान सभा में निर्णय लिये गये कि किसी भी कीमत पर बढ़ा हुआ लगान नहीं

दिया जाएगा और आंदोलन का नेतृत्व सरदार वल्लभ भाई पटेल करेंगे।

कांग्रेस विधायक दल नेता आलमगीर आलम ने कांग्रेस की धरोहर पच्चीसवीं वीडियो को

अपने सोशल मीडिया हैंडल फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप,इंस्टाग्राम पर जारी करते हुए कहा

कि खेड़ा के सफल आंदोलन के बाद वल्लभ भाई पटेल के प्रति किसानों का विश्वास

मजबूत था, बारदोली के किसान भी उनके इशारे पर मुश्किलें सहने को तैयार थे,पटेल ने

सरकार को किसानों की स्थिति से अवगत कराया लेकिन अत्याचारी सरकार किसानों को

रियायत देने के मूड में नहीं थी। झारखंड सरकार में कांग्रेस मंत्री बादल पत्रलेख एवं बन्ना

गुप्ता ने धरोहर वीडियो को अपने सोशल मीडिया हैंडल फेसबुक, टि्वटर व्हाट्सएप,

इंस्टाग्राम पर जारी करते हुए कहा कि अंग्रेज अधिकारी किसानों की संपत्ति जब्त करने

लगी ,जानवर उठाने लगे, मगर पटेल के भरोसे पर वापस किसान झुकने को तैयार नहीं

थे। इधर गांधीजी की अपील पर पूरे देश में बारदोली दिवस मना कर अंग्रेज हुकूमत को

स्पष्ट चेतावनी दी गई कि बारदोली के किसानों का लगान का बोझ कम नहीं किया गया

तो पूरे देश में लगान बंदी का आंदोलन शुरू हो जाएगा।

प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने किसान आंदोलन का उल्लेख किया

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव एवं डॉ

राजेश गुप्ता छोटू ने अपने सोशल मीडिया के माध्यम से धरोहर वीडियो की पच्चीसवीं

वीडियो जारी करते हुए कहा कि बारदोली में संघर्ष था देश की धरोहर किसान को बचाने

का,अत्याचार का प्रतिकार करने का,और एकता दिखाने का। किसानों की एकजुटता से

अंग्रेज हुकूमत चिंतित थी और अंग्रेज हुकूमत की चिंताएं बढ़ने वाली थी क्योंकि इस

आंदोलन के अंत तक स्वतंत्रता संघर्ष के फलक पर देश को सरदार मिलने वाले थे। प्रदेश

कांग्रेस कमेटी के निरंजन पासवान,सुखेर भगत,चैतू उराँव,अमरेन्द्र कुमार सिंह, सन्नी

टोप्पो,बेलस तिर्की, फिरोज रिजवी मुन्ना,सोनी नायक,जितेन्द्र त्रिवेदी, विनीता

पाठक,विभय शाहदेव,सहित पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, विधायक ,सांसद,मंत्रियों ने

धरोहर वीडियो को अपने सोशल मीडिया के माध्यम से जनता के समक्ष प्रेषित किया है जो

काफी ट्रेंड कर यहा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from इतिहासMore posts in इतिहास »
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from साइबरMore posts in साइबर »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: