fbpx Press "Enter" to skip to content

हैलो दिनेश बोल रहे हैं मख्यार गिरोह का सुप्रिमो दिनेश खरवार सहित तीन गिरफ्तार




  • एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने दी जानकारी

  • अपराधियों के पास से हथियार भी बरामद

  • लापुंग में इस गिरोह के होने की सूचना थी

  • दिनेश गोप के नाम पर चकमा खाते थे लोग

अपराध संवाददाता

रांचीः हैलो दिनेश बोल रहे हैं, इस वाक्य को सुनकर ही अधिकांश लोग झांसे में आ जाते

थे। इसी तरही के मख्यार गिरोह का सरगना दिनेश खरवार उर्फ राजा उर्फ दीनू अपना

वसूली का कारोबार बदस्तूर जारी रखे हुए थे। रांची पुलिस ने गुमला पुलिस के सहयोग से

दिनेश खेरवार उर्फ राजा उर्फ दीनू (बड़काकुरा बरटोली,लापुंग)को लापुंग थाना क्षेत्र के डाढ़ा

गांव से गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। वहीं पुलिस ने गिरोह के दो अन्य

अभियुक्त मसी प्रकाश केरकेट्टा (कामडारा,गुमला)और जटू भगत(डाड़ी,लापुंग) को भी धर

दबोचा है। पुलिस की गिरफ्त में आये अभियुक्तों के पास से एक देशी कट्टा,एक गोली,

बाइक और दो मोबाइल बरामद की गई है। इस संबंध में एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने

बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि मख्यार गिरोह का दिनेश खेरवार लापुंग

के डाढ़ा गांव स्थित नगेरा टोंगरी के समीप अवैध हथियार लेकर रंगदारी मांगने आया हुआ

है। उक्त सूचना पर (बेड़ो,डीएसपी) रजत मनिक बाखला के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित

की गई। जिसमें पुलिस ने छापेमारी करते हुये गिरोह के सरगना दिनेश खेरवार सहित

तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस जल्द ही गिरोह में शामिल दो अन्य सदस्यों की

गिरफ्तारी करेगी। पुलिस टीम में रजत मनिक बाखला(डीएसपी,बेड़ो), पुअनि सुशील

मरांडी(लापुंग थाना)सअनि छोटन उरांव(लापुंग थाना)सहित अन्य शामिल थे।

हैलो दिनेश बोलने वाला पहले पीएलएफआई गिरोह में शामिल था

एसएसपी ने यह भी बताया कि पुलिस की गिरफ्त में आया दिनेश खेरवार पूर्व में

पीएलएफआई गिरोह में शामिल था। हाल में ही इसने गिरोह से अलग अपना एक नया

गिरोह मख्यार नाम से बनाया था। इसके गिरोह में कुल 15 सदस्य थे,जिसमें पुलिस ने

अबतक 11 सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल भज चुकी है। इस गिरोह का मुख्य क्षेत्र

सीमावर्ती इलाका रहा है,जहां ठेकेदारों,शराब व राशन दुकानदारों से लेवी,रंगदारी की मांग

की जाती थी। दिनेश खेरवार का पूर्व अपराधिक इतिहास रहा है। जिसमें इसके विरूद्ध बेड़ो

थाना में कांड संख्या 91/20 दर्ज है।

नाम लेकर रंगदारी मांगा करता था वह

एसएसपी ने यह भी बताया कि मख्यार गिरोह का दिनेश खेरवार पूर्व में पीएलएफआई

संगठन से जुड़ा हुआ था। संगठन के दिनेश गोप की कार्यशैली को देखकर इसने अपना

एक नया गिरोह तैयार कर लेवी और रंगदारी की मांग करता था। जब भी यह किसी से

रंगदारी या लेवी की मांग करता था कभी अपना पूरा नाम नही बताकर सिर्फ दिनेश बोलता

था। जिससे लोग पीएलएफआई गिरोह के सुप्रिमो दिनेश गोप का कॉल समझते थे।

गौरतलब है कि खूंटी के जरियागढ़ निवासी विरेंद्र नाग की हत्या गिरोह के सदस्यों द्वारा

की गई थी। मृतक की पत्नी सरोज देवी के फर्दबयान पर लापुंग थाना में 24 जुलाई 2020

को कांड संख्या 18/20 दर्ज की गई थी। जिसमें पुलिस ने इस कांड में शामिल गिरोह के

तिलेश्वर खेरवार(बरटोली,लापुंग),अभय कुमार सिंह(लातेहार), रंजित बारला(लापुंग),

कुलदीप उरांव(गुमला), नारायण उरांव(गुमला), जयराम उरांव(गुमला), अमर बारला उर्फ

फागु उर्फ बुगा उर्फ मामा और धनी मुंडा(लापुंग) को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में

जेल भेजा है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from गुमलाMore posts in गुमला »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: