fbpx Press "Enter" to skip to content

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से की सतर्कता बरतने की अपील, झारखंड में मिला दूसरा पॉज़िटिव मरीज़

रांची : स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने झारखंड प्रदेश के लोगों से गुरुवार को अपील करते

हुए कहा कि कोरोना महामारी को लेकर जांच में असहयोग करने वाले लोग राज्य और देश

हित में उचित नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जांच में सब को सहयोग करना चाहिए।

ऐसा नहीं करने से यह संकट पार नहीं होगा। मंत्री ने आगे कहा कि ऐसी कोई गलती नहीं

करनी चाहिए जिसका बड़ा दुष्परिणाम झेलना पड़े। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा

कि जो भी स्वास्थ्य विभाग के कर्मी उन तक जा रहे हैं, उनका पूरा सहयोग किया जाए।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा इतना ही नहीं वैसे लोगों का सम्मान भी बढ़ाना चाहिए जो जान

जोखिम में डालकर अपने घर परिवार और सभी चीजों को छोड़कर मानवता की रक्षा करने

जा रहे हैं और अपना कर्म देश के प्रति बखूबी निभा रहे है वैसे लोग सम्मान के हकदार हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करें

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि ऐसे लोगों का प्रतिवाद एकदम नहीं होना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग को भी फॉलो करना चाहिए। क्योंकि इस

बीमारी से निपटने के लिए यही तरीका कारगर है। बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री गुप्ता

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ उस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी शामिल हुए, जिसमें

प्रधानमंत्री देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना मामले पर बात किए।

बता दें कि शुक्रवार सुबह 9 बजे पीएम देश को कोरोना संबंधित मामलो पर संबोधित भी

करने वाले है। जिसपर लोगों जनता की निगाहे टिकी है क्यूंकि पॉज़िटिव केस का आंकड़ा

पूरे देश भर में लगभग ढाई हज़ार के करीब पहुँच चुका है और झारखंड में कुल दो मिले है।

मिला एक और पॉज़िटिव केस

दरअसल, झारखंड प्रदेश में यह दूसरा कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया है। जिसमे

पहला केस तबलीगी जमात में शामिल होकर रांची लौटी मलेशिया की एक महिला कोरोना

पॉजिटिव पाई गई थी। उसके साथ 21 अन्य लोगों को भी पुलिस ने राजधानी के हिंदपीढ़ी

स्थित एक मस्जिद से बाहर निकाला है। उसके बाद राजधानी का हिंदपीढ़ी इलाका कड़ी

निगरानी में है। गुरुवार को उस महिला के संपर्क में आए परिवार के साथ हिंदपीढ़ी में भी

मेडिकल कर्मियों की एक टीम जांच करने गई, जहां लोगों ने सहयोग करने से मना कर

दिया। जिसके बाद लोगो को समझाया बुझाया गया। जिसके बाद गुरुवार को हजारीबाग

में एक केस मिला है। जो एक मजदूर है और पश्चिम बंगाल से 23 अन्य लोगों के साथ

विशुनगढ़ पहुंचा था। हालांकि मजदूर का कहना है कि वह किसी शादी में गया था। जिसके

बाद जांच के दौरान रिम्स के जारी रिपोर्ट में वह पॉज़िटिव पाया गया। हालांकि 23 अन्य

लोग सभी निगेटिव पाये गए है। जिसकी पुष्टि रात नौ बजे रिम्स प्रबंधन ने भी कर दी है।

और कथित मरीज का इलाज शुरू कर दिया है और फिलहाल आइसोलेशन में रखा है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat