fbpx Press "Enter" to skip to content

गुटखा कारोबारियों पर कार्रवाई के लिए स्वास्थ्य मंत्री टाइट

  • विभागीय सचिव को पत्र भेजकर कहा बड़ी मछलियों को पकड़े

रांचीः गुटखा कारोबारियों पर कार्रवाई का जो मसला दब गया मालूम पड़ रहा था, उसे

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के एक पत्र ने फिर से जिंदा कर दिया है। याद रहे कि अपर

बाजार के एक गोदाम में करोड़ों का माल जब्त होने के बाद भी गोदाम का मालिक तब तक

सामने नहीं आया था जब तक कि माल लौटाने की तिथि आगे नहीं बढ़ायी गयी। लेकिन

तब भी माल का असली मालिक पर्दे के पीछे ही छिपा रहा था। अब सारा मामला ठंडा पड़

जाने के बाद स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने एक पत्र जारी किया है। स्वास्थ्य सचिव नितिन

मदन कुलकर्णी को भेजे गये पत्र में कहा गया है कि कार्रवाई के नाम पर सिर्फ छोटे

कारोबारियों के खिलाफ जांच हो रही है। इस कारोबार के बड़े वितरण, सीएनएफ एजेंट और

अधिक माल खपाने वाले सारे बड़े व्यापारी इस जांच के दायरे से बाहर छूट रहे हैं।

गुटखा कारोबारियों के दावे को बन्ना गुप्ता ने ध्वस्त किया

स्वास्थ्य मंत्री के इस पत्र से गुटखा कारोबारियों ने सारा मामला मैनेज कर लेने का जो

दावा किया था, वह गलत साबित हो रहा है। इसके पहले इन गुटखा कारोबारियों के

नजदीकी सूत्रों ने दावा किया था कि काफी पैसा देने के एवज में भी तिथि को आगे बढ़ाने

का आदेश जारी कराया गया है। दूसरी तरफ यह भी स्पष्ट है कि सरकार द्वारा प्रतिबंधित

कारोबार घोषित किये जाने के बाद भी काफी ऊंची कीमत पर यह गुटखा पूरे झारखंड में

आसानी से उपलब्ध है। फर्क सिर्फ इतना है कि अब दुकानदार इसे सामने टांगकर उसका

प्रदर्शन नहीं करते लेकिन उनके पास भी इन्हीं बड़े कारोबारियों के माध्यम से लगातार

माल पहुंच रहा है। इसके कारोबार के नाम पर बड़े व्यापारी जबर्दस्त तरीके से मुनाफाखोरी

भी कर रहे हैं। अब स्वास्थ्य मंत्री के पत्र से आगे की क्या कुछ कार्रवाई होती है, इसे लेकर

बाजार में अभी से ही चर्चा का माहौल गरमाने लगा है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!