Press "Enter" to skip to content

हजारीबाग मुक्तिधाम में शव जलाने वाली मशीन हाथी का दांतः मनोज नारायण भगत




  • पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री और नगर निगम के महापौर की उपस्थिति में उदघाटन
  • जिला में लकड़ी का भी हो रहा मारामारी कैसे होगा मृतक की अग्नि संस्कार
  • सरकार द्वारा शव जलाने की मशीन करोड़ों रुपए की लागत से धूल चाट रही है 

हजारीबाग : हजारीबाग मुक्तिधाम में शव जलाने की मशीन वर्ष 2015 से धूल फांक रही




है। हजारीबाग कांग्रेस के पूर्व महानगर अध्यक्ष सह जिला महासचिव मनोज नारायण

भगत ने प्रेस रिलीज जारी करते हुए कहा कि हजारीबाग मुक्तिधाम में शव जलाने वाला

मशीन हाथी का दांत हुआ साबित 2015 मैं नगर निगम महापौर अध्यक्ष के द्वारा एक

करोड़ 75 लाख की योजना से बनाई गई थी उसकी उद्घाटन पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा के

द्वारा किया गया था ।जो आज तक उद्घाटन ही रह गया इस पर आज तक ना किसी

जिला प्रशासन और ना नगर निगम के पदाधिकारी या जनप्रतिनिधि अपनी जिम्मेदारियों

से मुंह मोड़ दिया, वही कोरोना महा बीमारी से जूझ रहे सदर अस्पताल में वेंटिलेटर हाथी

के दांत साबित हो रही है जितने वेंटिलेटर उपलब्ध है उसमें मात्र कुछ ही काम कर रहे है

बाकी हाथी के दांत के बराबर शोभा के लिए खड़ा किया गया है । सदर अस्पताल में जितने

डॉक्टर कार्यरत थे। क्या वे अभी आपदा के समय कार्य कर रहे है । सभी जीते हुए




जनप्रतिनिधियों और सरकारी पदाधिकारियों अस्पताल के अधिकारियों से अनुरोध है कि

इस पर शीघ्र संज्ञान ले ।

हजारीबाग मुक्तिधाम की मशीन क्या कहते हैं पदाधिकारी

हजारीबाग नगर निगम आयुक्त माधवी मिश्रा ने बताया कि 2015 में हजारीबाग नगर

निगम के द्वारा मुक्तिधाम में विद्युत शव जलाने के लिए बनाया गया था । जो करीब दो

करोड़ की लागत से चेन्नई के कंपनी के द्वारा बनाई गई थी। जो आज तक चालू नहीं हो

पाया चेन्नई के कंपनी के द्वारा टेक्निकल खराबी होने के कारण चेन्नई के टेक्नीशियन

के द्वारा बनवाने की भी बात किया था। जो तैयार नहीं हुआ । बिजली की लापरवाही

विभाग के द्वारा करीब दस लाख रुपया का बिजली बिल भी नगर निगम को सौंपा गया

है। जब इसमें मुर्दा जला नहीं तो बिजली बिल कहां से इसकी जांच चल रही है। हम लोग

बहुत प्रयास करने के बाद भी नहीं बना पाए उसके बाद कोरोना महामारी भी सामने आ

गया। इससे काम आगे नहीं बढ़ पाया है।



More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from हजारीबागMore posts in हजारीबाग »

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: