fbpx Press "Enter" to skip to content

हजारीबाग एनटीपीसी द्वारा रिम्स, रांची को चिकित्सा सहायता

हजारीबाग: हजारीबाग एनटीपीसी विद्युत उत्पादन में अग्रणी है एवं जिम्मेदार विद्युत

उत्पादक कंपनी होने के नाते सामाजिक कल्याण के हर क्षेत्र में आगे बढ़कर सहयोग

करती है। एनटीपीसी की पकरी बरवाडीह कोयला खनन परियोजना द्वारा रिम्स, रांची को

अस्पताल के 16 वार्डों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए 332 बिस्तरों पर ऑक्सीजन

पाइपलाइन बिछाने के लिए रु.45 लाख की सहायता प्रदान कर रही है। इस चार मंजिला

इमारत में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। वर्तमान में 150

बिस्तरों को मरीजों की भर्ती के लिए इस सप्ताह के अंत तक तैयार कर लिया जाएगा,

बाकी काम भी इस माह के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। इस सुविधा के आरंभ होने पर

रिम्स अस्पताल में कोविड 19 के मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का सामना नहीं करना

पड़ेगा साथ ही झारखंड के आसपास के राज्यों को भी यह सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

हजारीबाग एनटीपीसी द्वारा यहां के शेख भिखारी अस्पताल में भी स्थानीय प्रशासन की

पहल पर पकरी बरवाडीह कोयला खनन परियोजना के कार्यकरी निदेशक प्रशांत कश्यप

द्वारा अस्पताल में उपलब्ध केंद्रीय ऑक्सीजन सिस्टम से जुड़े 84 वार्डों में भी यह सुविधा

उपलब्ध कराई जा रही है।

हजारीबाग एनटीपीसी स्थानीय स्तर पर भी मदद कर रही है

यह कार्य युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है और 17 मई तक स्थानीय मरीजों की भर्ती के

लिए खोल दिया जाएगा। इसके साथ ही अस्पताल में 60 से 80 ऑक्सीजन से लैस बिस्तरों

को भी किसी आकस्मिक परिस्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त तौर पर तैयार किया

जा रहा है। इस कार्य पर रु.24 लाख का खर्च आएगा जो कि कंपनी द्वारा नैगम सामाजिक

उत्तरदायित्व के अंतर्गत खर्च किया जाएगा। प्रदेश में कोविड-19 की विषम परिस्थितियों

को देखते हुए यह कदम उठाया गया है जिससे कि अस्पतालों में अधिक से अधिक मरीजों

को चिकित्सा सहायता उपलब्ध हो सके और बीमारी से लड़ने में अस्पताल और स्थानीय

प्रशासन को सहयोग मिल सके।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from हजारीबागMore posts in हजारीबाग »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: