fbpx Press "Enter" to skip to content

हज़ारीबाग नगर निगम के सबसे ऊपरी तल्ला पर लगी आग, जला कांफ्रेंस हॉल

  • 30 लाख की लागत से अभी बनाया गया था हॉल

  • दस्तावेज के जलने की कोई जानकारी नहीं मिली

  • शॉर्ट सर्किट से आग लगने का अनुमान दमकल को

अशोक कुमार शर्मा 

हज़ारीबाग  : हज़ारीबाग  नगर निगम के जिस कॉन्फ्रेंस हॉल को अभी लाखों रुपये खर्च

कर बनवाया गया था, उस हिस्से में सुबह आग लग गई । यह इतना विकराल हो गई कि

खिड़कियों से आग की लपटें बाहर आने लगी। दूर से धुआं उठते देख लोगों का ध्यान इस

ओर आकृष्ट हुआ। तब जाकर लोगों को आग लगने की जानकारी हुई ।

वीडियो में देखिये आग लगने का घटनाक्रम

सूचना पर मौके पर दमकल पहुंच कर आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया। चूंकि इस

हॉल में लकड़ी का काम बहुत अधिक था, इसलिए उसमें आग पकड़ने की आशंका जतायी

गयी है । सभागार के बगल में एक कमरा है, उसमें कागजात रखने की बात है पर वहां तक

आग पहुंचने से पहले 10: 45 तक आग को बढ़ने से रोक दिया गया था। प्रत्यक्षदर्शियों के

अनुसार अब आग पर काबू पा लिया गया है।

हजारीबाग नगर निगम की महापौर रोशनी तिर्की ने कहा कि  बिजली सर्किट होने से आग

लगी है।  इसमें कोई किसी का संदेह नहीं जताया जा रहा है।  जब तक जांच नहीं हो जाए

तब तक कहना मुश्किल है। नगर आयुक्त  माधवी  मिश्रा ने बताया  कि 10:45 में मुझे

सूचना मिला बिल्डिंग में आग लगने की  दमकल के माध्यम से आग को बुझाने में

कामयाब हुआ।  दमकल के द्वारा बताया गया कि बिजली के  शार्ट सर्किट होने से आग

लगने की सूचना है। आगे आयुक्त ने बताया कि सीसीटीवी कैमरा का फुटेज उपायुक्त

जिला पुलिस कप्तान को को सौंपा गया है। सीसीटीवी कैमरा की गहन जांच होने के बाद

अगर दोषियों या अपराधी के तत्वों के द्वारा आग लगाने सीसीटीवी कैमरे में फुटेज किसी

का संदेह या दोषी पाया जाता है । तो उस पर एफ आई आर मुकदमा दर्ज कानूनी कार्रवाई

किया जाएगा कोई कागजात जलने की सूचना नहीं है। ऊपर बिल्डिंग मीटिंग हॉल में ही

आग लगा हुआ था। जो दमकल के द्वारा बुझा लिया गया है।

हजारीबाग नगर निगम में आग लगने की जांच हो : डॉ मेहता

नगर आयुक्त  माधुरी मिश्रा  को हजारीबाग में ज्वाइन करते ही नगर निगम प्रशासनिक

घर में आग लगना दुर्भाग्यपूर्ण है । हमें राजनीतिक षड्यंत्र नजर आ रहा है । जिस में

महत्वपूर्ण रिकार्ड जल कर राख हो जाने की सूचना है।  इसमें निश्चित घोटाले को आग के

हवाले किया गया है। संभावना है । नगर आयुक्त के पदभार ग्रहण करते ही ऐसा होना

संदेह के घेरे में है । झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी को संज्ञान में लेकर इसमें

कार्यवाही करने की जरूरत है। ज्ञातव्य है कि हजारीबाग में नगर निगम बीजेपी  के द्वारा

शासित है। यहां के विधायक और सांसद सभी बीजेपी के हैं। अभी जांच हो जाए तो घोटाले

सामने आएगा। आनन-फानन में हत्यारा सिंपसन पार्क में करोड़ों का घोटाला सामने

आएगा। हजारीबाग के प्रशासनिक पदाधिकारी एवं बीजेपी वाले लोग मिलकर घपला धारी

बन चुके हैं। सीबीआई की जांच अनिवार्य है ।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from घोटालाMore posts in घोटाला »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »
More from हजारीबागMore posts in हजारीबाग »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!