नफरत की फसल नहीं उगेगी चुनाव वाले राज्यों में

नफरत की फसल नहीं उगेगी चुनाव वाले राज्यों में

नफरत फैलाने का काम तेज हो गया है।

इसे वर्तमान परिपेक्ष्य में कोई अनहोनी घटना नहीं माना जा सकता।

चुनाव की घोषणा जिस दिन हुई थी, उसी दिन से यह तय हो गया था कि

यह तरीके फिर से आजमाये जाएंगे।

अब गुजरात में इसी नफरत के बीज रोपे गये हैं।

यह सही है कि इस बीच देश की जनता इन मुद्दों पर बहुत अधिक चालाक और समझदार हो चुकी है।

दरअसल समय ने मतदाता को यह समझा दिया है कि

चुनाव करीब आते ही कौन कौन से दांव हर बार आजमाये जाते हैं।

मजेदार बात यह है कि इस बार गुजरात के घटनाक्रमों में

भाजपा और कांग्रेस बिल्कुल एक जैसे नजर आ रहे हैं।

लेकिन इस पूरे घटनाक्रम की सबसे बड़ी विड़ंबना है कि

इसका असर उन राज्यों में नहीं पड़ना है, जहां चुनाव की घोषणा हुई है।

जिस घटना की वजह से हिंसा भड़की है वह निंदनीय है।

फिर भी इस एक घटना को लेकर जो माहौल बनाया जा रहा है, वह उससे कहीं अधिक निंदनीय है।

नफरत के इस खेल में भाजपा और कांग्रेस एक जैसे

इस एक नफरत की फसल काटने की तैयारी में जुटे दोनों प्रमुख राष्ट्रीय दलों की

समानता यह है कि गुजरात में भाजपा की सरकार होने के बाद भी इस मामले में

जिस व्यक्ति की अब तक पहचान हुई है, वह दरअसल कांग्रेस का विधायक है।

मौका पाते ही कांग्रेस ने भी नफरत की फसल से लाभ उठाने की असफल कोशिश की है।

मुंबई के कांग्रेसी नेता संजय निरुपम ने कहा है कि गुजरात में उत्तर भारत के लोगों पर किये जा रहे हमलों के बारे में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह याद रखना चाहिए कि उनका संसदीय क्षेत्र वाराणसी है।

यानी परोक्ष तौर पर निरुपम बनारस के लोगों को मोदी के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रहे हैं।

गुजरात में 14 माह की बच्ची के साथ दुष्कर्म की वारदात के बाद बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों पर हमले के समाचार हैं।

गुजरात के छह जिले इस हिंसा के चपेट में हैं।

उन्होंने यह कहने से भी परहेज नहीं किया कि गुजरात के पुलिस महानिदेशक यह कह रहे हैं कि

उत्तर भारत के लोग आने वाले त्योहारों को देखते हुए अपने गृह राज्य जा रहे हैं और उन्हें वापस जाने को मजबूर नहीं किया जा रहा है।

यह एक बड़ा झूठ है।

दीवाली और छठ की छुट्टियां एक महीने बाद शुरू होंगी, अभी नहीं।

नफरत की वजह से वहां से भाग रहे हैं हिंदी भाषी

भाजपा उन्हें गृह राज्य जाने को मजबूर कर रही है और बदनाम कांग्रेस विधायक को किया जा रहा है।

गुजरात के पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल ने भी सोमवार को दो ट्वीट किए हैं जिनमें प्रदेश में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमलों की निंदा की है।

श्री पटेल ने लिखा, गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमले की मैं निंदा करता हूं।

अपराधी को कठोर सजा मिले, इसके लिए पूरा देश उस पीड़ित परिवार के साथ खड़ा है

लेकिन एक अपराधी के कारण हम पूरे प्रदेश को गलत नहीं ठहरा सकते।

आज गुजरात में भारतीय प्रशासनिक सेवा के 48 और भारतीय पुलिस सेवा के 32 अधिकारी उत्तर प्रदेश और बिहार से हैं।

हम सब एक हैं। जय हिंद। उन्होंने यह भी लिखा, मुल्क लुट जायेगा, ये आसार नजर आते हैं, अब हुकूमत में सब मक्कार नजर आते हैं।

मुल्क की आजादी में लुटा दी जानें हमने और गद्दारों को हम ही गद्दार नजर आते हैं।

उत्तर भारतीयों के उन पर हो रही हिंसा के बाद पलायन के मामले पर गुजरात के पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने रविवार को कहा कि

जो हिंदी भाषी गुजरात से जा रहे हैं, वे आगामी त्यौहारों के कारण जा रहे हैं।

उन्होंने गांधी नगर में मीडिया से कहा,  त्यौहारों का मौसम शुरू हो गया है। पहले नवरात्र फिर दीपावली और उसके बाद छठ का पर्व है।

उत्तर भारत के लोग जो गुजरात से जा रहे हैं, वे डर की वजह से नहीं अपितु त्यौहार मानने जा रहे हैं।

गुजरात में उत्तर भारतीयों के खिलाफ हिंसा के लिए गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना के युवकों पर आरोप लगा है और इस संगठन के अध्यक्ष कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकुर हैं।

नफरत का चुनावी लाभ उठाने का कोशिश इस बार बेकार जाएगी

यानी किसी को इस नफरत को कम करने की चिंता वाकई नहीं है बल्कि सभी को इस स्थिति का लाभ उठाना है।

लेकिन इस बीच गंगा से बहुत पानी बह चुका है।

देश के कई घटनाक्रमों से देश की आम जनता के मन में जो नये विचार पैदा किये हैं

और देश जिन सवालों का उत्तर सरकार से चाहती है, वे इन मुद्दों से समाप्त नहीं

बल्कि और मजबूत हो रहे हैं।

बच्ची और उसके परिवार के साथ पूरी सहानुभूति होने के बाद भी

लोग अपने मूल सवाल से पीछे हटना नहीं चाहते।

यही दोनों बड़े राष्ट्रीय दलों के लिए इस चुनाव में बड़ी चुनौती बनने जा रही है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.