fbpx Press "Enter" to skip to content

हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा इच्छुक प्रवासियों को भेजने के लिये प्रतिबद्ध

चंडीगढ़ः हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि राज्य में रह रहे प्रवासी

लोग अगर अपने राज्यों को लौटने की इच्छा रखते हैं तो सरकार उनकी सुरक्षित और

निशुल्क वापसी के लिये प्रतिबद्ध है। श्री खट्टर ने कहा कि राज्य से अब तक लगभग 2.90

लाख ऐसे प्रवासियों को उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पूर्वोत्तर राज्यों

के साथ-साथ देश के अन्य राज्यों के लिये 77 विशेष श्रमिक रेलगाड़िया और 5,500 से

ज्यादा बसों के माध्यम से भेजा गया है। ये विशेष रेलगाड़िया और बसें राज्य के अम्बाला,

कालका, पानीपत, सोनीपत, गुरूग्राम, फरीदाबाद, हिसार तथा अन्य मुख्य स्थलों से

रवाना की गई हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षित और व्यवस्थित तरीके से प्रवासी श्रमिकोंं के

परिवहन पर दस करोड़ रुपये से अधिक का खर्च किया गया है और यह राशि हरियाणा

कोरोना राहत कोष के माध्यम से वहन की जा रही है। इसके अलावा लगभग 11,534

श्रमिक/लोग विभिन्न राज्यों से हरियाणा लौटे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की उन्नति

में प्रवासी श्रमिकों का उल्लेखनीय योगदान है। उन्होंने कहा कि विविधताओं के बावजूद

हम सब देशवासी एक हैं और इसी भावना और सोच के साथ हरियाणा सरकार ने

लॉकडाउन में फंसे और अपने घर जाने के इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को हरियाणा सरकार के

खर्च पर उनके गृह राज्यों में भिजवाने की शुरूआत की है। उन्होंने कहा कि देश के किसी

भी भाग में रहने वाले सभी भारतीय एक हैं और इनकी दुख-तकलीफ को दूर करना हम

सब भारतीयों का दायित्व है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा हर भारतीय उनकी जिम्मेदारी

उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकों और लोगों को शैल्टर होम और अन्य जगहों से से रोडवेज

की बसों के माध्यम से रेलवे स्टेशन तक लाने की व्यवस्था की गई है। रेलगाड़यिों,

प्लेटफार्म और बसों की वैक्यूम क्लीनर बार-बार सफाई और इन्हें सैनिटाइज किया जा

रहा है। रवाना होने वाले प्रत्येक प्रवासी के हाथों को सैनिटाइज किया गया तथा उनके लिए

भेजन और पानी की व्यवस्था भी लगातार की जा रही है। इन श्रमिकों को निशुल्क ट्रेन की

टिकट के साथ अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं ताकि रास्ते में इन्हें किसी

परेशानी का सामना न करना पड़ें। ट्रेन की प्रत्येक बोगी में बैठने वाले लोगों में सामाजिक

दूरी सुनिश्चित की जा रही है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!