fbpx Press "Enter" to skip to content

केन्द्रीय गृह मंत्री और पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के जन्मदिन पर विशेष

  • सत्ता चलाने में महारत वाले कुशल संगठन शिल्पी

  • जीवटता, कर्मठता और रणनीति के सफल पर्याय

  • आधुनिक राजनीति में चाणक्य भी कहे जाते हैं

  • खुद के प्रचार से हमेशा ही दूर रहना पसंद है

कैलाश विजयवर्गीय
(कैलाश विजयवर्गीय भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव हैं और अमित शाह के साथ कार्य करने का पुराना अनुभव है।)

केन्द्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष श्री अमित शाह के बारे में

अक्सर यह कहा जाता है कि वे हमेशा राजनीति के बारे में सोचते रहते हैं और काम करते

हैं। इसी कारण उन्हें आधुनिक चाणक्य भी कहा जाता है। अमित जी ने अपनी जीवटता से

विरोधियों को हर बार परास्त किया है। विरोधियों की साजिश के कारण जीवन के बुरे दिनों

में भी उन्होंने अपनी जीवटता नहीं छोड़ी। वे हमेशा राजनीति के बारे में सोचते रहते हैं, यह

सही है, लेकिन केन्द्रीय गृह मंत्री अमितजी के लिए राजनीति से पहले राष्ट्र और जनता के

हित हैं। देश और जनता के हित में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के विचारों, संकल्पों,

योजनाओं और कार्यक्रमों को उन्होंने जन-जन तक पहुंचाने के लिए जिस लग्न और

कर्मठता से कार्य किया, उसके हम जैसे कार्यकर्ता कायल हैं। अमितजी की कार्यशैली की

भाजपा के कार्यकर्ता ही नहीं, अन्य दलों के लोग भी प्रशंसक हैं। विरोधी दल के नेताओं ने

साजिश के कारण मोदीजी और अमित जी को देश की जनता के दिल में खलनायक बनाने

की भरपूर कोशिश की थी। तमाम साजिशों का पर्दाफाश करते हुए मोदीजी और अमितजी

देश की जनता के दिलों में छाये हुए हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित जी राजनीति में लगातार

व्यस्त रहते हुए भी पढ़ने-लिखने के शौकीन हैं। भारत की प्राचीन गौरव गाथाओं को

लगातार पढ़ते रहना उन्हें पसंद हैं। साथ ही उन्हें आचार्य चाणक्य के बारे में पढ़ने में खासी

दिलचस्पी रहती हैं। उनकी एक बड़ी विशेषता है कि देश-दुनिया के ताजा समाचारों से

हमेशा अपडेट रहना। भाषण देने से पहले एक-एक तथ्य का ध्यान रखना, उनकी एक और

बड़ी विशेषता है।

केन्द्रीय गृह मंत्री होने के पहले से रणनीति के माहिर साबित हुए

यही कारण हैं कि राज्यसभा और लोकसभा में भी विरोधी दलों की तमाम रणनीतियों को

उन्होंने धराशायी किया है। किसी भी जटिल विषय पर तुरंत निर्णय लेने और उस पर कार्य

करना उनकी आदत रही है। सरकार और पार्टी के बारे में अच्छी खबरे, उन्हें बहुत अच्छी

लगती है। खुद का प्रचार-प्रसार उन्हें पसंद नहीं है।

गुजरात सरकार में अमित शाह के गृहमंत्री के तौर पर कार्यकाल को सब याद करते हैं।

गुजरात में गृह मंत्रालय संभालने वाले नेताओं में उनकी भूमिका को बहुत सफल माना

जाता है। भाजपा के अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने पार्टी को दुनिया में सबसे बड़ा राजनीतिक

दल बनाकर एक और नया रिकार्ड बनाया। पिछले लोकसभा चुनाव की बात करें तो भाजपा

के अध्यक्ष रहते हुए अमितजी ने पार्टी को 303 सीटों पर जीत दिलाने के लिए 312

लोकसभा क्षेत्रों का दौरा किया। 1.58 किलोमीटर की यात्रा करके 161 रैलियां और 18 रोड

शो किए। पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के आखिरी दौर में कोलकाता में उनके रोड शो

की दहशत आज भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के दिलो-दिमाग में छायी

हुई है। 2013 में जब उन्हें पार्टी का महासचिव बनाने के बाद उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया

गया था, तो उस समय यह संदेह जताया जा रहा था कि यह गुजराती वहां क्या कर

पाएगा। 2014 के लोकसभा चुनाव में अपनी रणनीतिक क्षमता, कुशल संगठन शिल्पी की

भूमिका निभाते हुए और सहज-सरल तरीके से कार्यकर्ताओं को सक्रिय करके बूथ जीतो

का संकल्प दिलाते हुए उत्तर प्रदेश में रिकार्ड 73 सीटों पर भाजपा को विजयी बनाया।

कई राज्यों में भाजपा की सरकार बनाने में भी प्रमुख भूमिका रही

केंद्र में नरेंद्र भाई मोदी की सरकार के बनने के बाद भाजपा के अध्यक्ष बने अमित शाह ने

कई राज्यों में भाजपा की सरकारें बनवाने में मुख्य भूमिका निभाई। उनके अध्यक्ष रहते

हुए भाजपा की 20 राज्यों में सरकारें बन गई थी। हरियाणा के 2014 के विधानसभा चुनाव

में मुझे प्रभारी बनाकर भेजा गया था। चुनाव प्रचार के दौरान लगातार निगरानी रखते और

फीडबैक लेते रहते। चाहे रात के दो बजे हो, कोई बात करनी हो, तो हमेशा सहज रूप से

मिलते। वे हमेशा कहते हैं कि देश की उन्नति के लिए मोदीजी दिन-रात मेहनत कर रहे हैं,

हमें भी उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चलना है।

भाजपा अध्यक्ष के तौर पर उनका कार्यकाल सबसे सफल माना गया। एक कुशल संगठन

शिल्पी की भूमिका के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री के तौर पर उन्होंने एक कुशल शासक के नाते

कई उल्लेखनीय कार्य किए। 2019 में लोकसभा चुनाव जीतने और देश का गृहमंत्री बनने

के बाद तीन तलाक से मुस्लिम महिलाओं को मुक्ति दिलाने के लिए मुस्लिम महिला

(विवाह अधिकार संरक्षण) बिल 2019, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त करने और

लद्दाख को अलग करते हुए दो केंद्र शासित प्रदेश का गठन करना, नागरिकता संशोधन

कानून 2019 को संसद से पारित कराना मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धियां हैं। इसके साथ

ही भाजपा के पुराने संकल्पों को पूरा कराया गया। कोरोना महामारी के कारण लागू किए

लॉकडाउन में जिस तरह से उन्होंने हालत संभाले, उसकी हर जगह तारीफ हुई। कोरोना से

संक्रमित रहने के बावजूद उन्होंने केन्द्रीय गृह मंत्री के तौर पर अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह

से निभाई। अमित जी एक और खास बात है कि अपने बुरे दिनों में साथ निभाने वालों के

हमेशा खड़े रहे। अमित जी को जन्मदिन पर बहुत-बहुत शुभकामनाएं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: