fbpx Press "Enter" to skip to content

महान संत गुरु नानक देव जी की जयंती पर प्रदेश कांग्रेस में समारोह

रांचीः महान संत और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी की 552 वी जयंती पर

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग की ओर से प्रदेश कार्यालय, कांग्रेस

भवन, रांची में आज समारोह आयोजित कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। इस

जयंती समारोह में कांग्रेसजनों ने महान संत गुरु नानक देव जी के चित्र पर माल्यार्पण

किया एवं पंच परमेश्वर के प्रतीक के रूप में पांच दीप प्रज्ज्वलित किया एवं उनका मुख्य

प्रसाद वितरित किया। जयंती समारोह की अध्यक्षता करते हुए झारखंड प्रदेश कांग्रेस

कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शकील अख्तर अंसारी ने कहा कि प्यार, शांति

और भाईचारे की गुरु नानक की शिक्षा सर्वव्यापी है, गुरु नानक देव जी मानवता की

धरोहर है और उनकी शिक्षाएं इंसानियत का उच्च मार्ग दिखाती हैं तो वहीं दूसरी तरफ गुरु

नानक देव जी एक दार्शनिक ,समाज सुधारक, चिंतक और कवि भी थे।

महान संत गुरु नानक देव जी का जन्म 1469 में कार्तिक महीने में पूर्णिमा के दिन गुरु

नानक देव जी का अवतरण हुआ था और प्रकाश पर्व मनाया जाता है। शकील अख्तर

अंसारी ने कहा कि धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कार्तिक शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन

सिख पर्व के पहले गुरु नानक देव जी का जन्म हुआ था जिस कारण इनके जन्मदिन को

कार्तिक पूर्णिमा के दिन प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि गुरु नानक

देव जी के कई अनमोल विचार थे जिनमें उन्होंने कहा धन को केवल जेब तक ही रखें उसे

अपने हृदय में स्थान ना दे, जो धन को हृदय में स्थान देता है हमेशा उसका ही नुकसान

होता है।

इस मौके पर देश की वर्तमान हालत भी लोगों ने विचार व्यक्त किये

शकील अख्तर अंसारी ने कहा कि आज मौजूदा समय में देश के किसान अपने अधिकार

को लेकर आंदोलित है, लेकिन केन्द्र की सरकार किसान आंदोलन को दबाने के लिए पूरा

कुत्सित प्रयास कर रही है। किसानों पर पानी का बौछार कराना, उनपर लाठियां चलाना

कहीं से उचित नहीं है। अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा यह हमारे गुरूनानक देव जी ने

हम सब को बतायें है। विशिष्ट तौर पर उपस्थित प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डॉ राजेश

गुप्ता छोटू ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए गुरु नानक देव जी के अनमोल विचार को

रखा, जिसमें गुरु नानक देव जी कहते हैं दुनिया में किसी भी व्यक्ति को भ्रम में नहीं रहना

चाहिए, बिना गुरु के कोई भी दूसरे किनारे तक नहीं जा सकता।धार्मिक वही है जो सभी

लोगों का रूप से सम्मान करें, गुरु नानक ने कहा है कि कभी भी किसी का हक नहीं छीन

ना चाहिए जो दूसरों का हक छीनता है उसे कभी सम्मान नहीं मिलता है,हमेशा इमानदारी

और मेहनत से जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए। भगवान केवल एक हैं, उसका नाम

सत्य है, रचनात्मकता उसकी शख्सियत है और अनश्वर ही उसका स्वरूप है,जिसमें जरा

भी डर नहीं है जो द्वेष भाव से पराया है,गुरु की दया से ही इसे प्राप्त किया जा सकता है।

महान संत के बारे में ज्योति सिंह मथारू ने विचारों का उल्लेख किया

समारोह में ज्योति सिंह मथारू ने गुरुनानक देव जी की विचारों को याद करते हुए कहा कि

गुरुनानक देव जी हमें सच्चाई, धार्मिकता और करुणा का मार्ग दिखाया. वह समाज से

अन्याय व असमानता के उन्मूलन के लिए प्रतिबद्ध थे। उन्होंने कहा कि आज केन्द्र की

मौजूदा सरकार अन्नदाताओं के साथ खिलवाड़ कर रही है, किसानों पर लाठियां बरसा रही

है जो न्याय संगत नहीं है। प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक के प्रवक्ता सय्यद शिबली मंजूर ने

गुरुनानक देव जी की जयंती पर बधाई देते हुए कहा कि गुरुनानक देव जी सदैव त्याग एवं

प्रेम की शिक्षा दी है। आज देश को एक सूत्र में पिरोने के लिए उनकी विचार बहुत ही

प्रासंगिक है। जयंती समारोह में मुख्य रूप से प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक के प्रवक्ता

सय्यद शिबली मंजूर, तौकिर अख्तर, फिरोज आलम, अख्तर अली, अख्तर हुसैन, सरदार

गोल्डी जगी, सरदार अमरेन्द्र सिंह, जगदीश साहु, सलीम खान, नरेन्द्र लाल गोपी, प्रभात

कुमार, नेली नाथन, मनोज सहाय पिंकू, राजीव नारायण प्रसाद, जग्रनाथ साहु, सैंकी

खान, नरेश तिर्की, देवजीत देवघरिया, ज्योतिष तिर्की, एवं रामानंद केशरी शामिल थे

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: