fbpx Press "Enter" to skip to content

पाकिस्तान की सीमा से राजस्थान में टिड्डियों का भीषण हमला

जैसलमेरः पाकिस्तान की सीमा से आ रही करोड़ो टिड्डियों की नई समस्या लगातार

भयावह होती जा रही हैं। पाकिस्तान की लगती सीमा से जैसलमेर,बाड़मेर गंगानगर के

सामने से आ रही यह टिड्डिया अब देश के अन्य भागो में छाने लगी हैं। यह टिड्डियों इन

सीमावर्ती इलाको से होते हुयें नागौर, पाली, अजमेर, पुष्कर तक पहुंच गई हैं जिनको नष्ट

करने की कार्यवाही टिड्डी विभाग द्वारा की जा रही हैं। टिड्डियों का एक और दल बाड़मेर

शहर में पूरे इलाके में फैल गया जिसे स्थानीय लोगो ने फटाके छोड़कर, थाली बर्जन

बजाकर भगाया। केंद्र सरकार ने जल्दी की इन टिड्डियों पर नियंत्रण करने के कदम नही

उठाये तो कोरेना महामारी की तरह यह टिड्डियां देश के कई भागो में फैल जायेगी जिन

पर नियंत्रण भी करना काफी मुश्किल हो पायेगा क्योंकि पाकिस्तान के बलुचिस्तान,

पंजाब एवं सिंध प्रान्त से भारी मात्रा में टिड्डियों का माईग्रेशन भारत की तरफ हो रहा हैं।

पाकिस्तान इन टिड्डियों को कंट्रोल करने में नाकामयाब रहा खासकर सबसे अधिक

चिन्ता तो राजस्थान के अकाल से प्रभावित कई जिलो के पशु पालको को हो रही हैं क्यांकि

यह टिड्डिया पशुओं के चारागृह को नष्ट कर रही हैं, इससे पशुओं के लिए चारे की समस्या

उत्पन्न हो सकती हैं। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कहा कि सीमावर्ती जिलों में टिड्डी

नियंत्रण को लेकर राज्य सरकार गंभीर है और हरसंभव संसाधन उपलब्ध कराने के लिए

प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जिन किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है उन्हें स्पेशल

गिरदावरी के निर्देश दे दिए हैं, जल्द ही किसानों को मुआवजा मिलेगा।

पाकिस्तान की सीमा में इनपर नियंत्रण नहीं पाया गयापाकिस्तान की सीमा से भारत पर टिड्डियों का हमला तेज होने लगा है

टिड्डी नियंत्रण विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. के. एल. गुर्जर ने बताया कि पाकिस्तान

अपने क्षेत्र में टिडिड्यों पर नियंत्रण करने में पूरी तरह नाकाम रहा हैं इसके कारण बड़ी

संख्या में टिड्डियों के होपर्स एडल्ट होकर भारतीय क्षेत्र में आ रहे हैं। पाकिस्तान इन

टिड्डियों को कंट्रोल करने में पूरी तरह नाकाम रहा इसके कारण बड़ी संख्या में टिड्डियां

एवं कई जगह होपर्स भारतीय सीमा में सीमा के निकट इलाकों में आए हैं। उन्होने बताया

कि पाकिस्तान से बलुचिस्तान, पंजाब सिंध होते हुवें भारी मात्रा में टिड्डियों की

जनसंख्या का माईग्रेषन भारतीय सीमा में हो रहा हैं। यह टिड्डिया ईरान से पाकिस्तान के

बलुचिस्तान होते हुवें राजस्थान की सीमा में पहुंच रही हैं और आगामी 15 दिन बाद इन

टिड्डियों के समर ब्रीडिंग के बाद यह जनसंख्या भारतीय क्षेत्र में घुस जायेगी जो सचमुच

बहुत बड़ी खतरा हो सकता हैं। उन्होने बताया कि वर्तमान में विभाग राजस्थान एवं

गुजरात में 50 टीम इन टिड्डियों पर नियंत्रण करने में लगा हुआ है। इनमें 45 टीमें

राजस्थान के कई जिलो में लगी हुई हैं और पांच टीम गुजरात के क्षेत्रो में लगी हुई हैं।

50 टीमें से इनके नियंत्रण का काम जारी है

मंगलवार को राजस्थान की सीमा से घुसी हुई टिड्डियां बाड़मेर जैसलमेर जोधपुर पाली

होते हुवें नागौर व अजमेर के साथ पुष्कर तक पहुंच गई। वर्तमान में नागौर में 2’2

किलोमीटर क्षेत्र में टिड्डि दल उड़ रहा हैं, यह जैसे ही कही बेठेगा, उन्हें नष्ट करने की

कार्यवाही शुरु की जायेगी। डा.गूर्जर ने बताया कि वर्तमान में हमने अजमेर के ब्यावर,

पुष्कर, नागौर के खींवसर आदि कई दर्जनों गांव में टिड्डियों को नियंत्रण किया हैं। अब

तक हम जोधपुर, फलौदी, बाड़मेर, श्रीगंगानगर, नागौर, अजमेर, पाली, जैसलमेर आदि

जिलो में कुल 14300 हेक्टेयर क्षेत्र में टिड्डियों को नष्ट कर चुके हैं। वर्तमान में यह

अव्यस्क टिड्डिया गुलाबी रंग की हैं तथा उनके एडल्ट होने पर यह पीले में हो जायेगी।

हमारा कंट्रोल लगातार चल रहा हैं।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »

2 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: