fbpx Press "Enter" to skip to content

लीबिया में सरकारी सुरक्षा बलों ने 20 विद्रोहियों को मार गिराया

त्रिपोलीः लीबिया में संयुक्त राष्ट्र समर्थित सरकारी सुरक्षा बलों ने राजधानी त्रिपोली से

लगभग 200 किलोमीटर पहले मिसुराता शहर के निकट विद्रोही सेना के 20 लड़ाकों को मार गिराने का दावा किया है।

सरकारी बलों ने गुरुवार को बताया कि लीबिया की वायु सेना ने अल-वाशका और

ब्युरात अल-हुसून क्षेत्रों में विद्रोहियों की सभा को निशाना बनाकर 20 लड़ाकों को मार गिराया और कई सशस्त्र वाहनों को नष्ट कर दिया।

उन्होंने बताया कि त्रिपोली से लगभग 120 किलोमीटर पश्चिम में स्थित अलसबा शहर में

गोला-बारूद और मिसाइल ले जा रहे तीन ट्रकों को भी नष्ट कर दिया गया।

विद्रोही सेना ने पिछले एक साल से राजधानी त्रिपोली और उसके आसपास के इलाकों पर

कब्जे और संयुक्त राष्ट्र समर्थित सरकार को गिराने की कोशिश के मकसद से लड़ाई छेड़ रखी है।

लड़ाई में हजारों लोग मारे गए हैं और घायल हुए हैं तथा 150,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं।

लीबिया में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी से निपटने के लिए अधिकारियों को

अनुमति देने के वास्ते मानवीय संघर्ष विराम के अंतरराष्ट्रीय आह्वान के बावजूद हिंसा जारी है।

लीबिया में कोरोना से पहली मौत

लीबिया में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के कारण एक बुजुर्ग महिला की मौत होने के साथ ही देश में इस संक्रमण से मौत का पहला मामला सामने आया है।

राष्ट्रीय रोग नियंत्रण विभाग ने गुरुवार देर रात बताया कि 85 वर्षीय महिला की मौत के बाद उनका कोरोना वायरस के परीक्षण का परिणाम पॉजिटिव आया है।

लीबिया के कोरोना के कुल 10 मामले सामने आये हैं।

उत्तरी अफ्रीकी देश में संयुक्त राष्ट्र समर्थित सरकारी सुरक्षा बलों और विद्रोही सेना के बीच जारी संघर्ष के कारण देश का सामाजिक बुनियादी ढांचा बर्बाद हो रहा है।

इसी बीच महामारी की स्थिति उत्पन्न होना अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बीच चिंता का विषय है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 11 मार्च को कोविड-19 के प्रकोप को महामारी घोषित कर दिया था।

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार अब तक दुनिया भर में 10 लाख से अधिक

लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और 51,000 से अधिक लोगों की मौत हो गयी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat