मानसरोवर तीर्थयात्रियों को महाशिवरात्रि पर झारखंड सरकार का तोहफा

मानसरोवर की यात्रा के लिए झारखंड सरकार के तरफ से अनुदान
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मानसरोवर जाने वाले यात्रियों को झारखंड सरकार दे रही 1 लाख रुपये

रांची : भारत की आध्यात्मिक, पुरातात्विक एवं धर्माविलंबी स्थानों में से एक है कैलाश मानसरोवर की यात्रा। झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा सभी तीर्थयात्रियों को जो मानसरोवर का दर्शन करना चाहते है उन प्रत्येक हिन्दू को एक लाख रुपये का अनुदान राशि दे रही है। झारखंड सरकार का मानना है कि जो आर्थिक रूप से कमजोर है और ऐसे धार्मिक स्थलों का सपने में ही दर्शन कर पाते है उन्हें तीर्थयात्रा करवाने के लिए सरकार हरसंभव तत्पर है।

उक्त बातें झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मुख्यमंत्री आवास में आयोजित कैलाश मानसरोवर से लौटे तीर्थयात्रियों को अनुदान राशि प्रदान करते हुए कही।

दास ने कहा कि भारत आध्यात्मिक और धर्म परायण देश है। गरीब तबके के लोग जो आर्थिक रूप से सक्षम नही है, उसके लिए झारखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना की शुरुवात की है। इस एक लाख की अनुदान राशि 2018-19 में लौटे तीर्थयात्रियों को झारखंड सरकार ने सोमवार को दी। बता दें कि झारखंड सरकार द्वारा इस योजना से अभी तक 5000 से ज्यादा लोगों को लाभ हुआ है। इस मौके पर उन्होंने सबसे पहले सभी झारखंड और देश वासियों को महाशिवरात्रि की शुभकामना दी।

दास ने कहा कि इस योजना को सरकार के तरफ से एहसन नही माना जाए, चूँकि इस योजना के शुरुवात का मुख्य कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी है। जिनके साथ-साथ पूरा देश चल रहा है और पीएम का सपना है कि भारत विश्व गुरु बने जिसको साख पर रखकर सरकार हर कदम साथ दे रही है और प्रयास कर रही है सरकार के तिजोरी में जो पैसे है वो जन कल्याण और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के उत्थान के लिए लगे। सरकार भारत की संस्कृति का निर्वहन कर रही है। मानसरोवर तीर्थयात्री बहुत ही सौभाग्यशाली है।

सीएम ने कहा कि इस योजना से वैसे लोग जिनके अंदर तीर्थ करने की आशा है वो पूर्ण हो। इस योजना का प्रचार जन-जन के लोग करें और अपने साथ-साथ हर किसी को इस यात्रा के लिए प्रेरित करें। साथ ही उम्मीद है राज्य के लोगों से कि राज्य और देश विकासशील बने और सभी स्वस्थ और सुख से रहे ऐसी कामना जरुर करे बाबा भोलेनाथ से.

झारखंड सरकार का पर्यटन पर जोड़-

सीएम का मनना है कि जैसे देश विकसित हो रहा है वैसे झारखंड सरकार राज्य को भी विकसित करने में हरकदम तत्पर होकर चल रही है. जिसके लिए पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा दिया जा रहा है। जहाँ झारखंड में मौजूद धार्मिक तीर्थस्थल और अन्य स्थान पर पर्यटन क्षेत्र को विकसित कर हम लोगों को रोजगार देने चाहते है।

जहाँ अलग-अलग धर्मों के विभिन्न धार्मिक स्थल की भी मौजूदगी हो. इस विकास कि भावना को साथ लेकर झारखंड सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा बुद्ध स्तूप इटखोरी में बनाने का फैसला भी किया है और इस पर विचार भी कर रही है। जिससे पर्यटन को इटखोरी में भी बढ़ावा मिलेगा और ज्यादा से ज्यादा लोग इटखोरी पहुंचेंगे। पर्यटन बढ़ने से राजस्व बढेगा और विदेशी पर्यटकों का भारत की ओर प्रेम बढेगा. विदेशी पर्यटक भारत को पर्यटन के जरिये विदेशी मुद्रा देते है जिससे भारत का आर्थिक विकास होता है। झारखंड सरकार इस पहल पर अपनी पूरी कोशिशे लगा रखी जिससे झारखंड पर्यटन जल्द ही दुनिया के मानचित्र पर नजर आएगा।

अमर कुमार बाउरी द्वारा शुभकामनाएं-

झारखंड के पर्यटन मंत्री अमर कुमार बाउरी भी रघुवर दास द्वारा अनुदान राशि दिए जाने के क्रम में कार्यक्रम में मौजूद रहे और अपनी बाते रखी। जहाँ उन्होंने कहा कि भाजपा की रघुवर सरकार ने झारखंड के सही और भले के लिए काफ़ी कुछ किया है, उनका आना ही झारखंड के लिए सौगात रही। वे जब से झारखंड राज्य के नेत्रित्वकर्ता बनकर झारखंड कि बागडोर संभाले है तब से ही लोगों को तीर्थ करवाने का यह प्रयास किया जा रहा है। बल्कि इसी उद्देश्य से मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना की शुरुवात भी की गई। जिसके तहत हर असमर्थ व्यक्ति जो तीर्थ करने के इक्षुक है वे यात्रा कर सके।

मंत्री ने कहा कि कैलाश मानसरोवर की यात्रा काफ़ी कठिन होती है जिसके लिए मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना पर 1 लाख प्रतिव्यक्ति अनुदान राशि दी जा रही है। इस छोटी से पहल से सरकार धार्मिक यात्रा में सभी इक्षुक जनों का सहयोग कर सके। वहीं महाशिवरात्रि के मौके पर पर्यटन मंत्री ने सभी देशवासियो और राज्य वासियों को शुभकामनाएं दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.