fbpx Press "Enter" to skip to content

औरैया हादसे के परिजनों नहीं मिल सका मुआवजा

बोकारो: औरैया हादसे में मारे गये लोगों को अब सरकार ने शायद भूला ही दिया है। याद

रहे कि वहां के भीषण सड़क दुर्घटना में जिले के 12 प्रवासी मजदूर की मौत हुई थी। उनके

परिजनों को दो माह बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार की ओर से घोषित मुआवजा नहीं

मिल सका है। उक्त बातें भाजपा के नेता सपन गोस्वामी ने कहीं। उन्होंने बताया कि

दुर्घटना के बाद झारखंड सरकार ने 4 लाख रुपए की मुआवजा राशि मृतकों के आश्रितों के

लिए और 50 हजार रुपए घायलों के लिए घोषणा की थी। मृतकों और घायलों के परिजनों

को 20 हजार रुपए के अलावे एक रुपया नहीं मिल सका है। सरकार की संवेदनहीनता का

इसी से अंदाजा होता है कि परिजनों द्वारा जिले के डीसी, डीडीसी और राज्य के मुख्यमंत्री

को पत्राचार किया गया । फिर भी अब तक इसी प्रकार की पहल नहीं हुई। हार कर मृतक के

परिजन भारतीय जनता पार्टी के विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को पत्र लिखकर

अवगत कराया। उन्होंने कहा कि बोकारो जिला मुख्यमंत्री का पुराना गृह जिला रहा है।

ऐसी परिस्थिति परिजन निराश हो चुके हैं। उल्लेखनीय रहे कि कोरोना लॉक डाउन की

पहली छूट के दौरान किसी तरह अपने घर पहुंचने की जद्दोजहद में औरैया के साथ साथ

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में भी भयानक हादसा हुआ था। इन सभी में दरअसल वे मजदूर ही

मारे गये थे जो कोरोना के संकट से बचने के लिए किसी तरह अपने गांव लौटना चाहते थे।

औरैया हादसे में कई परिवारों का कमाने वाला चला गया

एक तो उनके परिवार का कमाने वाला सदस्य इस दुर्घटना में चला गया। सरकार के द्वारा

कोई संवेदना नहीं दिखाई जा रही। मौके पर मृतकों के परिजनों में सुधीर गोस्वामी, बेला

देवी, अधीर गोस्वामी, अरुण गोस्वामी, भरत गोराई, रामकिंकर पांडे, जरिडीह प्रखंड

महामंत्री बलराम कुमार रवानी, युवा मोर्चा अध्यक्ष विक्रम गोस्वामी, मेघनाथ गोस्वामी,

वरुण बनर्जी आदि उपस्थित रहे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from राज काजMore posts in राज काज »

2 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: