fbpx Press "Enter" to skip to content

सुशासन सरकार के लिए चुनावी संकट पैदा करेगी यह कुव्यवस्था

दीपक नौरंगी

भागलपुरः सुशासन सरकार का दर्जा यूं ही नहीं मिला था। बिहार में अनेक किस्म की

विकास योजनाओं और खास तौर पर सामाजिक समरसता कायम रखते हुए विकास के

दावों के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार को इस नाम से पुकारा जाता था यानी

सुशासन सरकार। नीतीश कुमार से खार खाये लोग भी उन्हें नाराजगी में ही सही लेकिन

फिर भी उन्हें सुशासन बाबू कहकर पुकारा करते थे। यह पहला मौका है जबकि कोरोना

संकट ने सुशासन सरकार की पोल खोलकर रख दी है।

वीडियो में देखिये भागलपुर में लोगों की असली परेशानी का हाल

विरोधी दल लगातार जिस बात का आरोप बहुत पहले से लगाते आ रहे थे, वह आरोप इस

वैश्विक संकट के दौर में पूरी तरह सही साबित हो रहा है। अफसरों पर नीतीश सरकार की

निर्भरता ने इतनी बदतर स्थिति बना दी है कि कागजी घोडे भर दौड़ाये जा रहे हैं। राज्य

की आम गरीब जनता तक इस सुशासन सरकार को कोई भी राहत सही तरीके से पहुंच भी

नहीं पा रहा है। दरअसल नीतीश कुमार की सरकार की तरफ से जो नीतिगत फैसले लिये

जा रहे हैं, उन पर भी अब अफसरों ने कुंडली मार लेने का शायद मन बना लिया है।

अफसरों का यह बदला तेवर आने वाले विधानसभा चुनाव की तरफ भी इशारा करता है।

लेकिन सुशासन सरकार की इन खामियों की वजह से भागलपुर में आम और गरीब जनता

इसके कहर को झेलने के लिए विवश है।

सुशासन सरकार के लिए कठिन चुनौती है यह समस्या

हाल के दिनों में अचानक ही भागलपुर में कोरोना का प्रकोप बढ़ गया है। वैसे तो यह हाल

पूरे बिहार का है। इसी वजह से पूरे राज्य में फिर से लॉक डाउन जैसा कड़ा फैसला लागू

किया गया है। लेकिन इसके बाद भी नीतीश कुमार की सुशासन सरकार उन फैसलों को

अपने अफसरों से लागू नहीं करा पायी है, जिनकी बदौलत राज्य की आम जनता तक सही

मायने में राहत पहुंच पाती। लगातार मांग किये जाने के बाद भी गरीबों को इस वैश्विक

आपात काल के दौर में राशन कार्ड उपलब्ध कराकर उन्हें मुफ्त में राशन मुहैय्या कराने

का काम तक सही ढंग से नहीं हो पाया है। इस बार हमारे संवाददाता दीपक नौरंगी ने

भागलपुर के एक ही इलाके में अलग अलग छोटा कारोबार करने वाले तीन लोगों से बात

कर यह साबित किया है कि दरअसल बिहार की वास्तविक स्थिति कितनी भयावह है। इस

पर बिना ध्यान दिये अगले विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार को जनता की इन तमाम

नाराजगियों का कहर भी झेलना पड़ सकता है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!