fbpx Press "Enter" to skip to content

गोलन पहाड़ी की बस्ती का नाम ट्रंप के नाम पर रखा इजरायल ने




येरूशलमः   गोलन पहाड़ी पर अब ट्रंप के नाम की एक बस्ती भी होगी।

इजरायल ने इस ट्रंप के नाम पर रखी गयी बस्ती का शिलान्यास कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ही गोलन पहाड़ी को

इजरायल का हिस्सा मानने की बात कही है। उनकी इस घोषणा पर कई

अरब राष्ट्र न सिर्फ नाराज हुए हैं। इनमें से कुछ ने संयुक्त राष्ट्र में यह मुद्दा

उठाने की भी मांग की है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने

रविवार को एक समारोह में ‘ट्रम्प पहाड़ी क्षेत्र’ नाम से एक नयी बस्ती बनाने के

संकल्प के साथ उसका शिलान्यास किया। श्री नेतन्याहू ने कहा कि

गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने के

श्री ट्रम्प के फैसले के सम्मान में ‘ट्रम्प पहाड़ी क्षेत्र’ नामक नयी बस्ती का निर्माण किया जायेगा।

श्री नेतन्याहू ने अमेरिकी राष्ट्रपति को इजरायल का ‘महान दोस्त’ बताते हुए कहा,

‘‘आज का दिन ऐतिहासिक है।’’ इस अवसर पर अमेरिकी राजदूत

डेविड फ्रेडमैन भी मौजूद थे। श्री फ्रेडमैन ने ‘ट्रम्प पहाड़ी क्षेत्र’ के निर्माण की

प्रशंसा करते हुए इसे सही कदम ठहराया है। गोलन पहाड़ी की नयी बस्ती का निर्माण कार्य

अभी शुरू नहीं हुआ है लेकिन इजरायल-अमेरिका के राष्ट्रीय ध्वज के साथ

श्री ट्रम्प के नाम वाली एक दीवार का उद्घाटन किया गया। उल्लेखनीय है

कि 1967 में सीरिया के साथ युद्ध के दौरान इजरायल ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र को

अपने कब्जे में ले लिया था। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मार्च में

गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने की घोषणा की थी।

इजरायल ने अप्रैल में घोषणा की थी कि गोलन पहाड़ी क्षेत्र में श्री ट्रम्प के नाम

पर एक नयी बस्ती का निर्माण किया जायेगा। गोलन पहाड़ी क्षेत्र सीरिया की

राजधानी दमिश्क से करीब 60 किलोमीटर दूर है और यह क्षेत्र लगभग एक

हजार वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। काफी लंबे युद्ध के बाद इजरायल

ने अंततः इस पहाड़ी पर से सीरिया को हटाकर अपना कब्जा कर लिया है।



Rashtriya Khabar


Be First to Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com