Press "Enter" to skip to content

डेढ़ दर्जन दुकानों को सील कर संचालकों को किया गया गिरफ्तार

  • लॉकडाउन के उल्लंघन को लेकर गिरिडीह पुलिस हुई रेस

गिरिडीहः डेढ़ दर्जन दुकानों पर आज प्रशासन का डंडा चला। यह सभी लॉकडाउन के

नियमों का उल्लंघन कर दुकान संचालित कर रहे थे। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद

गिरिडीह पुलिस दो दिनों से रेस हुई। यहां रविवार को जिले के सरिया एवं बिरनी क्षेत्र में

कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के आरोप में 10 दुकानों को सील कर दिया गया था।

साथ ही कई दुकानदारों की गिरफ़्तारी भी की गई थी। वहीं आज गाज शहरी क्षेत्र के कई

प्रतिष्ठान संचालकों पर गिरी।सोमवार को शहर के अलग-अलग हिस्सों में करीब आधा

दर्जन प्रतिष्ठानों को अगले आदेश तक के लिए जहां सील कर दिया गया। वहीं इनके

संचालकों को आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत गिरफ्तार भी किया गया। इस बीच शहर

के मकतपुर रोड स्थित अनिल इलेक्ट्रिक और प्रदीप इलेक्ट्रिक दुकान पहुंचे अधिकारियों

ने मौके पर बगैर अनुमति के दुकान संचालन पर दोनों संचालकों को जमकर फटकार

लगायी। हालांकि दोनों संचालकों ने गिरिडीह चैंबर ऑफ कॉमर्स का एक पत्र अधिकारियों

को दिखाया। इस पत्र में इलेक्ट्रिक दुकानों के संचालकों ने दिखाते हुए कहा कि उन्हें डीसी

से प्रतिष्ठान संचालन की अनुमति मिली हुई है। लेकिन चैंबर के पत्र के साथ सरकार

द्वारा जारी गाईड लाईन एक कॉपी संलग्न थी। जिसमें अनुमति मिले दुकानों के संचालन

का जिक्र था। ना कि डीसी द्वारा इलेक्ट्रिक दुकानों के संचालक का कोई आदेश था।

लिहाजा, लॉकडाउन की कार्रवाई के लिए निकले कार्यपालक दडांधिकारी धीरेन्द्र कुमार

और डीएसपी संजय राणा ने इस दौरान शहर के मकतपुर रोड स्थित अनिल इलेक्ट्रिक

और प्रदीप इलेक्ट्रिक के संचालकों को स्पस्ट तौर पर कहा कि सरकार के गाईड लाईन में

इलेक्ट्रिक दुकान खुलने का कोई जिक्र नहीं है।

डेढ़ दर्जन में से कई ने चैंबर का पत्र दिखाया

अब डीसी की अनुमति लेकर आएं। तभी इन डेढ़ दर्जन दुकानों को खोलने दिया जाएगा।

ऐसे में बगैर अनुमति के दुकान खुलने पर अगली बार दोनों दुकानों को सील करने का कड़ा

अल्टीमेटम अधिकारियों द्वारा दिया गया। इस बीच अधिकारी कचहरी रोड के मधुबन

वेजिस के समीप पहुंचे। तो वहां गणपति सोलर के दुकान भी शटर खुला हुआ था।

अधिकारियों के गाड़ी देख दुकान का स्टाॅफ पहले ही दुकान खुला छोड़ कर फरार हो गया।

जब अधिकारियों ने दुकान संचालक निर्मल सलामपुरिया को फोन कर दुकान खोलने का

कारण पूछा। तो प्रतिष्ठान संचालक भी कोई जवाब नहीं दे पाएं। इसके बाद अधिकारियों

ने प्रतिष्ठान संचालक सलामपुरिया को भी कड़ा अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अब दुकान

खुला पाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगाी। इधर लॉकडाउन के पांबदियों के हालात

देखने निकले दडांधिकारी धीरेन्द्र कुमार, सदर एसडीपीओ अनिल सिंह, डीएसपी संजय

राणा, मुफ्फसिल थाना प्रभारी विनय राम और नगर थाना के एसआई अमरजीत सिंह इस

दौरान सबसे पहले शहर के टुंडी रोड पहुंचे। तो वहां रविकांत सत्यार्थी का कपड़े की दुकान

भानू ड्रैसेज के साथ उनके भाई अमिताभ सत्यार्थी के कपड़े की दुकान को सील कर दिया।

इस दौरान दोनों दुकानदारों को गिरफ्तार भी कर लिया गया। इसके बाद अधिकारियों का

वाहन शहर के बक्सीडीह रोड पहुंचा। तो वहां भी मां मथुरासिनी श्रृंगार का संचालन कर

ग्राहकों को समान दिया जा रहा था। अधिकारियों ने दुकान को सील कर दिया। वहीं

स्टेशन रोड के लाईन मस्जिद के समीप एक मार्केट में के भीतर जूता-चप्पल दुकान चलाते

अधिकारियों ने देखा। तो दुकान संचालक मो. मुश्ताक को गिरफ्तार करने के साथ दुकान

को सील कर दिया। इन डेढ़ दर्जन  दुकानों के अलावा भी  अधिकारियों ने सिहोडीह में कई

दुकानों के खिलाफ कार्रवाई की है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from गिरिडीहMore posts in गिरिडीह »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version