fbpx Press "Enter" to skip to content

भूत के आतंक से पीड़ित गांव दो बच्चों की मौत

  • खबर पाकर पुलिस ने ओझा को हिरासत में लिया

  • जंगल से लौटने के बाद बीमार पड़ गये थे चार बच्चे

  • दो बच्चे अब भी ईलाज के लिए अस्पताल में भर्ती

  • विज्ञान मंच के लोग ग्रामीणों को समझा में जुटे

प्रतिनिधि

मालदाः भूत के आतंक से पीड़ित गांव के लोगों को जिला प्रशासन भरोसा नहीं दिला पाया है। दूसरी तरफ ओझा के झाड़फूंक के दौरान दो बच्चों की मौत के बाद वहां पुलिस का हस्तक्षेप

हुआ है। इन दोनों बच्चों की मौत के बाद गांव वाले चुपके से इनके

शवर मालदा मेडिकल कॉलेज से ले गये थे और उन्हें कब्र दे दिया गया

था। पुलिस तक जब इस घटना की सूचना पहुंची तो एक मजिस्ट्रेट की

तैनाती में इन दोनों शवों को दोबारा कब्र से निकाला गया है। दोनों शव

पोस्टमार्टम मालदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भेज दिया गया है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक इस सिलसिले में अब्दुल रफीक नामक एक

ओझा को हिरासत में लिया गया है। गाजोल थाना पुलिस ने उसे सात

दिनों के पुलिस हिरासत के लिए अदालत में आवेदन दिया है। घटना

गाजोल के अलाल गांव पंचायत के कदमतली गांव की है। वहां की

सूचना मिलने के बाद प्रशासन के साथ साथ विज्ञान मंच के लोग भी

पहुंचे हैं। गांव में अब भी भूत का आतंक होने की सूचना पर सभी हैरान

हो गये हैं। विज्ञान मंच के जिला महामंत्री सुनील सरकार ने कहा कि

आज के दौर में भी ऐसी बातों पर लोगों को भरोसा है, यह चिंता का

विषय है। घटना के बारे में पता चला है कि कुल चार बच्चे अचानक

बीमार पड़े थे। जिनमें से दो अब भी मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं।

भूत के आतंक के चक्कर में रात भर पड़े रहे बच्चे

मिली जानकारी के मुताबिक पास के जंगल से लौटने के बाद चारों

बच्चे बीमार पड़ गये थे। इसी हालत में उन्हें गांव के ओझा के पास ले

जाया गया था। ओझा ने रात भर ठंड में बच्चों पर भूत भगाने का काम

किया। इससे बच्चों की तबियत और बिगड़ गयी। जो बच्चे मरे हैं,

उनके नाम शफीकुल आलम (5 साल) और फिरोजुर रहमान ( 6 साल)

हैं। अस्पताल में शबानूर खातून ( तीन साल) और कोहिनूर खातून ( 6

साल) अब भी भर्ती हैं। वैसे प्रशासनिक स्तर पर यह समझा जा रहा है

कि जंगल में खेलने के दौरान किसी जंगली फल को खाने की वजह से

बच्चों की तबियत बिगड़ी थी। इस बारे में जिला के एसपी आलोक

राजोरिया ने कहा कि कथित ओझा को उसके घर से गिरफ्तार किया

गया है। कानूनी कार्रवाई के साथ साथ लोगों के दिमाग से भूत का

आतंक दूर करने के लिए भी प्रयास किये जा रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »

2 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by