Press "Enter" to skip to content

गाजा पट्टी में इजरायल सेना के संघर्ष में 55 फिलीस्तीनी घायल







रामल्लाः गाजा पट्टी में इजरायली सेना के साथ संघर्ष में शुक्रवार को कम से कम 55 फिलीस्तीनी घायल हो गये।

फिलीस्तीन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

फिलीस्तीन के स्वास्थ्य मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, ‘‘इजरायल की सेना ने 55 लोगों को घायल किया

जिसमें से 33 लोग गोली लगने से घायल हुए थे,

पूर्वी गाजा पट्टी में रैली के दौरान दो एम्बुलेंस क्षतिग्रस्त हुए।’’

मार्च 2018 में शुरू हुए ‘ग्रेट मार्च ऑफ द रिटर्न’ गाजा पट्टी के बड़े प्रदर्शनों के रूप में जाना जाता है।

एक साल बाद फिलीस्तीन के प्रदर्शनकारियों का सीमा पर इजरायली सैनिकों के साथ संघर्ष

लगातार जारी है, जबकि इजरायल की ओर से गोलीबारी और शुक्रवार को बड़े पैमाने पर

हिंसक रैलियां होती है।

गाजा पट्टी में इस किस्म के टकराव का इतिहास काफी पुराना है

सिर्फ हाल के दिनों में इसकी आक्रामकता काफी बढ़ी हुई नजर आ रही है।

फिलीस्तीनी पक्ष की तरफ से कुछ अरसा पहले सैकड़ों रॉकेट छोड़े जाने के बाद से स्थिति बिल्कुल युद्ध जैसी बनी हुई है।

रॉकेट से हमला होने के तुरंत बाद इजरायल ने भी जबावी कार्रवाई की थी।

उसकी तरफ से किय गये हमलों में कुछ लोग मारे गये थे।

इजरायल ने दावा किया था कि उसने सिर्फ उन ठिकानों को निशाना बनाया था,

जहां से इजरायल पर हमला किये जा रहे थे।

इसमें से कुछ ऐसे गुप्त ठिकाने भी शामिल थे, जहां से इजरायल की जमीन पर विस्फोटक भरे बैलून भी छोड़े जाते थे।

इन बैलूनों में विस्फोटक भरा होने की वजह से जब वे जमीन पर आते थे तो आग लग जाती है।

इस वजह से पहले इजरायल की खेती को इस आगजनी से काफी नुकसान हो चुका है।

इस चाल को समझने के बाद बैलून को अब इजरायल हवा में ही ध्वस्त कर देते हैं

ताकि खेतों को नुकसान नहीं पहुंचे।

अब तनाव बढ़ने के बाद उन ठिकानों को भी नष्ट किया गया है, जहां से ऐसे बैलून छोड़े जाते थे।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com