Press "Enter" to skip to content

फुलमनी देवी को मिला मुख्यमंत्री राहत कोष से 20 हजार रुपए की आर्थिक मदद







बेरमो /खेतको :  फुलमनी देवी का पति आखलेश मांझी का 28 जून 21 को बकरी चराने के दौरान

बिजली करेंट के चपेट के आने से मृत्यु हो गई थी । पति के मौत के बाद के घर में कोई दुसरा कमाने

वाला नही बचा। अब इस के घर मे कमाने में भूख मरी छा गया है। मौत ने जहां एक ओर घर परिवार

को बिखेर कर रख दिया वही घर में खाने पर आफत आ गई। घर मे फंका कशी यानी भुखो मरने की

नौबत आ गई थी। इस बात की जानकारी जैसे ही झारखंड मुक्ति मोर्चा बोकारो जिला कोषाध्यक्ष

अशोक मुर्मू को हुई उन्होने बीना समय गंवाए मजबूर महिला की मदद की पहल शुरु कर दी।

जिसका सफल परिणाम गुरुवार को उस समय देखने को मिला जब श्री मुर्मू अपने सहयोगियों के

साथ मुख्यमंत्री राहत कोष से मिले 20 हजार का ड्राफ्ट लेकर मजबूर व पिड़ीत महिला फूलन देवी के

घर पहुच उन्हे ड्राफ्ट सौप दिया।

फुलमनी देवी को मिले चेक के बाद आंसू भरी आंख

फुलमनी देवी को मिले चेक के बाद आंसू भरी आंखो से खुशी का इजहार देखने को मिला वही

मसिहा के रुप में सामने आये श्री मुर्मू को खुब धन्यवाद दिया और हाथ जोड़कर अभार प्रकट की।

मौके पर श्री मुर्मू ने कहा कि दुर्घटना के बाद से ही वे इस जुगत में लग गये थे कि किस तरह इस

गरीब व लाचार महिला को मदद पहुंचाई जा सके। इसको लेकर हम ने पार्टी के आला पदाधिकारियो

से लेकर मुख्यमंत्री तक गोहार लगाई और आज परिणाम आप सबो के सामने है। कहा कि प्रदेश की

वर्तमान महागठबंधन (झामुमो) की सरकार आपकी अपनी सरकार है और यह सरकार हमेशा गरीबो,

जरुरतमंदो, मजलूमो को मदद पहुने के लिए तत्पर रहती है यानी यह सरकार गरिबो और लाचारो

कि हितैसी सरकार है। उन्होंने कहा कि झारखंड की सरकार गरीबों को हमेशा मदद करती है।

वर्तमान मुख्यमंत्री का दरबार चौबिसो घंटा प्रदेश वासियों के लिए खुला रखा गया है। मौके पर

झामुमो के ललन सोनी, सहदेव नायक,सुकदेव मांझी,जीतराम टुडू,बीरेंद्र कुमार मरांडी,दिनेश सोरेन

आदि मौजूद थे ।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from महिलाMore posts in महिला »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: