Press "Enter" to skip to content

प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन में फ्री वैक्सीन का एलान हुआ

  • अगले नवंबर माह तक गरीबों को मुफ्त अनाज मिलेगा

  • 18 साल के ऊपर के लोगों को मुफ्त में वैक्सीन

  • कई अन्य वैक्सीन का ट्रायल देश में जारी है

  • कई राज्यो ने की थी ऐसी व्यवस्था की मांग

  • 25 प्रतिशत वैक्सीन सीधे निजी अस्पतालों को

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन में पूरे देश में वैक्सीन पर वह एलान

हुआ जिसकी काफी अरसे से मांग की जा रही थी। श्री मोदी ने रविवार शाम पांच बजे राष्ट्र

को संबोधित किया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना की दूसरी वेब से हम

भारतवासियों की लड़ाई जारी है। पीएम मोदी ने कहा कि सबसे प्रभावी हथियार कोविड

प्रोटोकॉल है। वैक्सीन हमारे लिए सुरक्षा कवच की तरह है। आज पूरे विश्व में वैक्सीन की

जो मांग है उसके तुलना में उत्पादन करने वाले बहुत कम है। पीएम मोदी ने कहा कि

हमारी दृष्टि में ये चिंता की बात थी। जिस रफ्तार से भारत का टीकाकरण चल रहा था,

उस हिसाब से देश को शत-प्रतिशत टीकाकरण कवरेज का लक्ष्य हासिल करने में करीब

40 साल लग जाते। हमने इस समस्या के समाधान के लिए मिशन इंद्रधनुष को शुरू

किया।

प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन में गरीबों का राशन भी

वैक्सीनेसन को लेकर प्रधानमंत्री ने बड़ा एलान करते हुए कहा कि 21 जून, सोमवार से देश

के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों

को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निमार्ताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75

प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। देश की

किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। अब तक देश के

करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़

जाएंगे। प्रधानमंत्री के राष्ट्र को बताया कि सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही

मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी। देश में बन रही वैक्सीन में से 25 प्रतिशत, प्राइवेट

सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं, ये व्यवस्था जारी रहेगी। प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की

निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे।

इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा।

प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि आज सरकार ने फैसला लिया है कि

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा।

महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी

है। यानि नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त

अनाज उपलब्ध होगा।

कोरोना संकट के दौरान कई बार देश को संबोधित कर चुके हैं मोदी

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी कोविड-19 महामारी के बीच कई बार देश को संबोधित

कर चुके हैं। इस दौरान पीएम की तरफ से देश की जनता को कई सुझाव और हालात से

निपटने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दी है। देश के नाम अपने

संबोधन में प्रधानमंत्री कई बार नई घोषणाएं भी कर चुके हैं। 15 महीने में प्रधानमंत्री का

10वां संबोधन और दूसरी लहर में ये उनका दूसरा संबोधन है। इससे पहले पीएम मोदी ने

20 अप्रैल को देश को संबोधित किया था।

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले काफी समय से देश लगातार जो प्रयास और परिश्रम कर

रहा है, उससे आने वाले दिनों में वैक्सीन की सप्लाई और भी ज्यादा बढ़ने वाली है। आज

देश में 7 कंपनियाँ, विभिन्न प्रकार की वैक्सीन्स का प्रॉडक्शन कर रही हैं। तीन और

वैक्सीन्स का ट्रायल भी एडवांस स्टेज में चल रहा है। जब नीयत साफ होती है, नीति स्पष्ट

होती है, निरंतर परिश्रम होता है तो नतीजे भी मिलते हैं। हर आशंका को दरकिनार करके

भारत ने एक साल के भीतर ही एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स लॉन्च कर दी।

हमारे देश ने, वैज्ञानिकों ने ये दिखा दिया कि भारत बड़े-बड़े देशों से पीछे नही है। आज जब

मैं आपसे बात कर रहा हूं तो देश में 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है।

हाल के दिनों में कुछ एक्सपर्ट्स द्वारा हमारे बच्चों को लेकर भी चिंता जताई गई है। इस

दिशा में भी दो वैक्सीन का ट्रायल तेजी से चल रहा है। इसके अलावा अभी देश में एक

नेजल वैक्सीन (नाक से ली जाने वाली वैक्सीन) पर भी रिसर्च जारी है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version