Press "Enter" to skip to content

मुफ्त वैक्सीन के सवाल पर फिर प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस आमने सामने

  • दीपक प्रकाश ने कहा प्रधानमंत्री मोदी को पूरे देश की चिंता है

रांचीः मुफ्त वैक्सीन देने का एलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज किया है। प्रदेश भाजपा

अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद अपनी वीडियो संदेश जारी

किया है।

देखें प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने क्या कहा

इसके माध्यम से राज्यसभा सांसद श्री प्रकाश ने श्री मोदी द्वारा पूरे देश के लिए की जाने

वाली व्यवस्था के लिए उनका आभार व्यक्त किया गया है। उन्होंने कहा है कि पूरे देश के

लोगों को मुफ्त वैक्सीन देने का एलान ही यह बताने के लिए पर्याप्त है कि प्रधानमंत्री पूरे

देश की बराबर चिंता करते हैं। इसी क्रम में श्री प्रकाश ने राज्य की हेमंत सरकार को भी

सावधानी के साथ टीकाकरण का काम करने की नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि गैर

जिम्मेदारी से काम करने की वजह से राज्य में जिस तरीके से वैक्सीन की बर्बादी हो रही

है, उसे कम करना भी राज्य की जिम्मेदारी है। श्री प्रकाश ने प्रधानमंत्री के संबोधन में

उल्लेखित गरीबों को अगले नवंबर तक अनाज देने के फैसले की भी सराहना करते हुए पूरे

राज्य की जनता की तरफ से उनका आभार व्यक्त किया है। श्री प्रकाश ने राज्य सरकार

को इस बात के लिए भी आगाह किया है कि गरीबों को मिलने वाले अनाज की भी

कालाबाजारी ना हो, यह देखना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है।

मुफ्त वैक्सीन पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा राज्य का पैसा लौटाये

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने इस मुद्दे पर कहा कि जनता के जबाव, सोशल

मीडा के कैंपन और उच्चतम न्यायालय की टिप्पणियों के बाद अब केंद्र सरकार पूरे देश

को मुफ्त वैक्सीन देने का फैसला ले रही है। पार्टी इस निर्णय का स्वागत करती है और यह

मांग करती है कि पूर्व में वैक्सीन के मद में राज्य सरकारों ने जो पैसा खर्च किया है, उसकी

भी भरपाई केंद्र सरकार करें। वैसे भी मुफ्त टीकाकरण का यह काम प्रारंभ से ही किया

जाना चाहिए था। राज्यों को अपने स्रोत से वैक्सीन जुटाने की जिम्मेदारी टाल देने की

वजह से केंद्र सरकार के प्रति जनता नाराज थी। उधऱ वैक्सीन के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने

भी सारी जानकारी मांगकर केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया था। केंद्र सरकार ही

वैक्सीन उत्पादन और वितरण पर नियंत्रण कर रही है। अब अदालत में ही यह स्पष्ट हो

पायेगा कि पूर्व में केंद्र सरकार ने क्या कुछ किया है। इससे पहले केंद्र सरकार ने पचास

प्रतिशत वैक्सीन को निजी अस्पतालों को उपलब्ध कराया है, जिन्हें बेचा गया है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!