fbpx Press "Enter" to skip to content

पहचान छिपाकर कश्मीर जाने की कोशिश करते पांच रोहिंग्या गिरफ्तार

शिलिगुड़ीः पहचान छिपाकर कश्मीर जाने की कोशिश करते पांच रोहिंग्या नागरिकों को

न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। खास जांच अभियान के तहत

रेलवे पुलिस ने जिनलोगों को हिरासत में लिया है उनमें अब्दुल मलिक, सोफिया बेगम,

इनायत रहमान, मोहम्मद हसन और शमशीरा बेगम हैं। पुलिस के मुताबिक यह सभी

बांग्लादेश के रोहिंग्या शरणार्थी कैंप से अगरतला होते हुए कश्मीर जाना चाहते थे। मिली

जानकारी के मुताबिक चोरी छिपे बांग्लादेश से त्रिपुरा में प्रवेश करने के बाद इनलोगों ने

अपनी पहचान छिपाकर किसी की मदद से फर्जी पहचान के आधार पर दिल्ली जाने के

लिए टिकट खरीदा था। बांग्लादेश के काटूकफालांग शरणार्थी शिविर से वे लोग गत दस

जनवरी को भी भाग निकले थे। 11 जनवरी को अगरतला से दिल्ली के आनंदबिहार

एक्सप्रेस में वे सवार हुए थे। वहां से न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन तक पहुंचने के बाद रेलवे

पुलिस की जांच में वे पकड़ में आ गये। दरअसल ट्रेन की जांच का काम इनदिनों अधिक

गंभीरता से किया जा रहा है। ट्रेन पर सवार इनलोगों को देखने पर जब शक हुआ तो

पूछताछ हुई। पूछताछ में ही यह पुख्ता हो गया कि सभी लोग भारतीय नागरिक नहीं हैं।

उसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया। पुलिस को इनलोगों ने साफ साफ अपनी

पहचान बता दी है। लेकिन अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि उन्हें किसने कश्मीर

जाने की सलाह दी थी और वे सभी कश्मीर में कहां जा रहे थे। इस बात की भी जांच हो रही

है कि बांग्लादेश से भारत के अंदर आने में इस परिवार की किनलोगों ने मदद की थी।

पहचान छिपाकर कश्मीर जाना कोई सामान्य घटना नहीं

म्यांमार से बांग्लादेश और वहां से अगरतला होते हुए कश्मीर जाने की गुत्थी को पुलिस

गहन तरीके से समझना चाहती है। आतंकवादी घटनाओँ के संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय

द्वारा पहले ही जारी सतर्कता आदेश की वजह से ऐसी घटनाओं को अब काफी गंभीरता से

लिया जा रहा है और हर मामले की गहन छानबीन भी हो रही है। 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from म्यांमारMore posts in म्यांमार »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: